हरदा भीषण हादसे में 4 गोदामों को किया गया सील, CM ने दिए उच्चस्तरीय जांच के आदेश

Harda Factory Blast Update: सील किए गए गोदामों में रवि फायर वर्क्स सुरेश फेरवानी अंबाचंदन, फर्म श्याम सुंदर जसवानी अंबाचंदन, लक्ष्मी फायर वर्क्स इंडस्ट्री प्रो. नरेश बालचंदानी दतोदा, लक्ष्मी फायर वर्क्स, प्रो. जमनादास बालचंदानी के नाम शामिल हैं.

Harda Factory Blast

हरदा फैक्ट्री बलास्ट अपडेट.

Harda Factory Blast: इंदौर के हरदा में हुए भीषण हादसे को लेकर नया अपडेट आया है. जिला कलेक्टर ने जिले में अलर्ट जारी किया है. निर्देश में कहा गया है कि सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्र का भ्रमण करे और पैक्ट्री (पटाखा) में जाकर जांच करें. कलेक्टर के इस निर्देश के बाद सभी अधिकारी निकले और पटाखा फैक्ट्री में जाकर जांच की. जांच के दौरान यह पाया गया कि सुरक्षा को लेकर सावधानी नहीं बरती गई है. निरीक्षण के दौरान सुरक्षा मानकों में गड़बड़ी पाई जाने पर 4 फैक्ट्री को सील कर दिया है.

पटाखा गोदामों की हुई सघन जांच

बता दें कि महू इलाके के अलग-अलग पटाखा गोदामों में गहन जांच की गई है. साथ ही सहू सब डिवीजन में पटाखा गोदाम में सुरक्षा मानकों जैसे- पानी, वेंटिलेटर, रेती इत्यादि की व्यवस्था को लेकर भी सघन जांच की गई. इसके अलावा गोदाम की लाइसेंस की शर्तें, स्टॉक के मिलान को लेकर भी खास जांच की गई. जानकारी के मुताबिक 15 लाइसेंस धारियों की जांच की गई है. जिसमें चार जगहों पर गोदाम को आगे की कार्रवाई के लिए सील कर गिया गया.

4 गोदाम सील

सील किए गए गोदामों में रवि फायर वर्क्स सुरेश फेरवानी अंबाचंदन, फर्म श्याम सुंदर जसवानी अंबाचंदन, लक्ष्मी फायर वर्क्स इंडस्ट्री प्रो. नरेश बालचंदानी दतोदा, लक्ष्मी फायर वर्क्स, प्रो. जमनादास बालचंदानी के नाम शामिल हैं. इन सभी फर्म्स को सील कर गोदाम का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है.

सीएम ने ली उच्चस्तरीय बैठक

भीषण हादसे में सीएम मोहन यादव ने उच्चस्तरीय बैठक लिया है. जिसमें पूरे प्रदेश के कलेक्टर शामिल थे. मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को निर्देश दिया है कि जिले में जहां-जहां पटाखा फैक्टरी है वहां पूरी सुरक्षा व्यवस्था मौजूद है या नहीं. बता दें कि हरदा भीषण हादसे में कई लोगों की जान चली गई.

Bharat Express Live

Also Read