Bharat Express

कनाडा को आतंकियों के लिए नया ‘पाकिस्तान’ बना रहे ट्रूडो?

गैंगस्टर्स और खालिस्तानी आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय कनाडाई पीएम अब आतंकी निज्जर के समर्थन में उतर आए है

canada

कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो

हाल के सालों में खालिस्तानी अलगाववादियों की कनाडा की धरती से भारत के खिलाफ गतिविधियां बढ़ी हैं. कई खालिस्तानी आतंकियों ने कनाडा में पनाह ले रखी है और आए दिन वे भारत के खिलाफ जहर उगलते रहे हैं. भारत के मोस्ट वॉन्टेड खालिस्तानी आतंकी कनाडा में छिपे बैठे हैं, जिन्हें आज वहां की सरकार अपनी नागरिकता देकर उनके अधिकारों की रक्षा करने की ढोल पीट रही है. यह काफी कुछ वैसा ही है जैसे पाकिस्तान की सरकार सालों से आतंकियों को पनाह देने के बाद उन्हें चुनाव तक लड़ने की इजाजत देती रही है. पिछले साल, पंजाबी सिंह सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी थी, जिसका बाद में कनाडा कनेक्शन सामने आया था. वहीं अब पंजाब में एक कांग्रेस नेता की हत्या का भी कनाडा कनेक्शन सामने आया है. इस हत्या की जिम्मेदारी कनाडा स्थित एक खालिस्तानी आतंकी ने ली है.

कनाडा में पनाह लेने वाले खालिस्तानी आतंकियों के मसले पर भारत सरकार कनाडा को फटकार लगा चुकी है. वहीं NIA ने जालंधर में एक हिंदू पुजारी की हत्या के मामले में खालिस्तान टाइगर फोर्स के प्रमुख हरदीप सिंह निज्जर पर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित किया था. इसके कुछ दिनों बाद ही जून में निज्जर की कनाडा में गोली मारकर अज्ञात बदमाशों ने हत्या कर दी थी. अब निज्जर की हत्या में भारत की संलिप्तता का आरोप लगाते हुए कनाडा ने भारतीय राजनयिक को निष्काषित कर दिया है. वहीं इन आरोपों को भारत ने सिरे से खारिज करते हुए कनाडा के एक शीर्ष राजनयिक को 5 दिनों के भीतर देश से निकलने का आदेश जारी कर दिया है. साथ ही भारत ने कहा है कि खालिस्तान के मसले पर कनाडा की सरकार की निष्क्रियता चिंता का विषय है.

पाकिस्तान की राह पर कनाडा!

जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) की सरकार भले ही खालिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या के लिए भारत को कटघरे में खड़े कर रही है लेकिन इससे ट्रूडो इस सच से मुंह नहीं फेर सकते हैं कि चाहे सिद्धू मूसेवाला की हत्या हो या फिर पंजाब में कांग्रेस नेता बलजिंदर सिंह बल्ली की हत्या… इन दोनों ही हत्याओं की पूरी स्क्रिप्ट कनाडा में बैठे खालिस्तानी आतंकियों ने लिखी थी. कनाडा सरकार भले ही वहां मौजूद खालिस्तानी अलगाववादियों को खुश करने की कोशिश कर ले, लेकिन भारत विरोधी गतिविधियों के लिए खालिस्तानी आतंकी कनाडा की धरती का इस्तेमाल लगातार करते रहे हैं और इस पर कनाडाई पीएम लगाम नहीं लगा पा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: कनाडा के आरोपों पर भारत सरकार ने दिया करारा जवाब, 5 दिनों में कनाडाई डिप्लोमैट को देश छोड़ने का आदेश

कांग्रेस नेता की हत्या का कनाडा कनेक्शन

पंजाब के मोगा में कांग्रेस नेता बलजिंदर सिंह बल्ली की गोली मारकर हत्या कर दी गई. कुछ अज्ञात हमलावरों ने घर में घुसकर बल्ली की गोली मारकर हत्या कर दी. इस वारदात के कुछ घंटों के बाद ही कनाडा में बैठे खालिस्तानी आतंकी अर्श डाला ने इसकी जिम्मेदारी ली है. इस तरह एक बार फिर कनाडा में बैठे एक गैंगस्टर ने भारत में एक हत्या की स्क्रिप्ट लिखी है. लेकिन बजाय उन गैंगस्टर्स और खालिस्तानी आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने के, उल्टे कनाडाई पीएम अब आतंकी निज्जर के समर्थन में उतर आए और भारत पर मनगढ़त आरोप भी लगा डाले. कनाडा के पीएम की इस प्रतिक्रिया के बाद सोशल मीडिया पर ढेरों प्रतिक्रियाएं आ रही हैं और लोगों का कहना है कि कनाडा अब नया ‘पाकिस्तान’ बन गया है, आतंकियों की शरणस्थली बन गया है.

अपने वादों से मुकरे कनाडाई पीएम

जी20 समिट के लिए हाल ही में ट्रूडो भारत आए थे और इस दौरान देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने कनाडा में चरमपंथी तत्वों की भारत विरोधी गतिविधियों को जारी रखने के बारे में भारत की कड़ी चिंताओं से उनको अवगत कराया था. तब ट्रूडो ने इसके जवाब में जो कुछ कहा था वह अपने देश लौटते ही उससे मुकर गए हैं.

ट्रूडो ने तब हिंसा और नफरत रोकने की बात की थी, लेकिन कनाडा लौटते ही उन्होंने खालिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या के मामले में भारत पर आरोप लगाने शुरू कर दिए. हालांकि, ट्रूडो के इन आरोपों का भारत ने मुंहतोड़ जवाब दिया है और यह स्पष्ट कर दिया है कि अलगाववाद के रास्ते पर चलने वालों का परोक्ष या अपरोक्ष तौर पर समर्थन करने वाली बाहरी ताकतों को माकूल जवाब दिया जाएगा.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read