Bharat Express

पश्चिम बंगाल पर Remal Cyclone का मंडराया खतरा, PM Modi ने अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

Remal Cyclone: मौसम विभाग के अनुसार, यह चक्रवाती तूफान 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तट से टकरा सकता है. इस दौरान समुद्र में 1.5 मीटर ऊंची लहरें उठने की आशंका है.

Remal Cyclone

पीएम मोदी ने अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

Remal Cyclone: चक्रवाती तूफान रेमल का खतरा तेजी के साथ बढ़ रहा है. बंगाल की खाड़ी से उठे इस तूफान के आज (26 मई) रात को कोलकाता के समुद्री तट से टकराने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है. जिसको लेकर आपदा प्रबंधन की टीमों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए गए हैं. इसी के साथ ही रेमल साइक्लोन से निपटने को लेकर की गई तैयारियों की पीएम नरेंद्र मोदी ने समीक्षा बैठक की. जिसमें पीएम मोदी को तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई.

पीएम मोदी ने दिए निर्देश

बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार राज्य सरकार के साथ संपर्क में है. प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया है कि पश्चिम बंगाल में पहले से ही तैनात की गई 12 एनडीआरएफ टीमों और ओडिशा में एक टीम के अलावा, अधिक टीमों को स्टैंडबाय पर रखा जाए, जो एक घंटे के भीतर आगे बढ़ सकें. उन्होंने कहा कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए बंदरगाहों, रेलवे और राजमार्गों पर कड़ी निगरानी रखी जाए.

110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की होगी रफ्तार

बता दें कि भारतीय उपमहाद्वीप में एक बार फिर चक्रवातीय तूफान आ रहा है. इस तूफान को रेमल चक्रवात (Cyclone Remal) नाम दिया गया है. यह बंगाल की खाड़ी से चला है और आज इसके पश्चिम बंगाल से टकराने की आशंका है. वहां तटीय इलाकों में तेज आंधी चल रही है और बारिश भी हो रही है. मौसम विभाग के अनुसार, यह चक्रवाती तूफान 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तट से टकरा सकता है. इस दौरान समुद्र में 1.5 मीटर ऊंची लहरें उठने की आशंका है, जिससे तटीय पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के निचले इलाके डूब सकते हैं.

अलर्ट मोड पर आपदा प्रबंधन की टीमें

आपदा प्रबंधन की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है. साथ ही बंगाल की खाड़ी में मछलियां पकड़ने वाले मछुआरों के लिए भी चेतावनी जारी की गई है. मछुआरों को 27 मई की सुबह तक बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्से में न जाने को कहा गया है. वहीं, रेमल के प्रभाव से पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मिजोरम से लेकर बिहार तक बारिश होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें- Cyclone Remal: आज बंगाल के तट से टकराएगा एक और चक्रवाती तूफान, मिजोरम से बिहार तक भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग के एक अधिकारिक बयान में कहा गया, “चक्रवात रेमल अगले कुछ घंटों में एक गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा और 26 मई की मध्य-रात्रि तक बांग्लादेश और पश्चिम बंगाल के तटों के बीच एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में टकराएगा.”

समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव, गृह सचिव, एनडीआरएफ के महानिदेशक, आईएमडी के महानिदेशक और एनडीएमए के सदस्य सचिव मौजूद रहे.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read

Latest