Bharat Express

घोसी की सियासत में कौन किस पर भारी?

Ghosi Bypolls: इन पोस्टरों को अगर गौर से देखा जाए तो पोस्टर पर भाजपा का ही चुनाव चिन्ह लगा है जिससे स्पष्ट हो जा रहा है की विरोध करने वाले कहीं ना कहीं भाजपा से ही जुड़े हुए हैं.

ghosi bypoll

घोसी उपचुनाव

Ghosi Election: उत्तर प्रदेश के घोसी विधानसभा क्षेत्र में एक दशक के अन्दर ही दूसरी बार उपचुनाव होने जा रहा है. आज़ादी के बाद के दो दशकों में 354 घोसी विधानसभा क्षेत्र को कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party) के गढ़ के तौर पर जाना जाता था लेकिन बाद के दिनों कम्युनिस्ट पार्टी का किला गिर गया.

घोसी विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में नामांकन की आखिरी तारीख 17 अगस्त है तो वहीं चुनाव 6 सितंबर को होगा. घोसी विधानसभा क्षेत्र में तकरीबन 4 लाख 30 हजार मतदाता हैं जिनमें अल्पसंख्यक और दलित मतदाता सर्वाधिक हैं. घोसी विधानसभा क्षेत्र के जातिगत समीकरण पर ध्यान दिया जाए तो बहुसंख्यक भूमिहार मतदाता जिधर शिफ्ट करेंगे उधर चुनाव प्रभावित होगा क्योंकि इस जाति से कोई प्रत्याशी अभी तक चुनावी मैदान में नहीं है. अब यह देखने की बात होगी की घोसी विधानसभा क्षेत्र के भूमिहार मतदाता राज्य सरकार के मंत्री ए के शर्मा (A K Sharma) के वजह से भाजपा, घोसी लोकसभा क्षेत्र के सांसद अतुल कुमार सिंह उर्फ अतुल राय (Atul Rai) की वजह से बसपा, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रवक्ता राजीव राय (Rajeev Rai) की वजह से सपा के साथ जाते हैं या फिर किसी अन्य विकल्प की तलाश करते हैं.

वैसे तो भूमिहार मतदाता परम्परागत तौर पर भाजपा के साथ रहते हैं लेकिन घोसी विधानसभा क्षेत्र में यह पैमाना सटीक नहीं बैठता क्योंकि इस विधानसभा क्षेत्र में भूमिहार मतदाता भाजपा से अलग हटकर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी सुधाकर सिंह तो कभी फागू चौहान का साथ दे चुके हैं. वहीं राजभर, निषाद एवं अन्य प्रभावी जातियों के मतदाता कहीं ना कहीं अपनी जाति की पार्टियों या फिर अपने जमात के नेताओं के साथ प्रतिबद्धता से जुड़े नज़र आ रहे हैं.

दारा चौहान (Dara Chauhan) के भाजपा में शामिल होने के बाद घोसी विधानसभा क्षेत्र के अमिला नगर पंचायत (Amila Urban Local Body) में दारा चौहान के विरोध में पोस्टर लगे हैं जिनमें लिखा है “भाजपा से बैर नहीं, दारा तेरी ख़ैर नहीं.” इन पोस्टरों को अगर गौर से देखा जाए तो पोस्टर पर भाजपा का ही चुनाव चिन्ह लगा है जिससे स्पष्ट हो जा रहा है की विरोध करने वाले कहीं ना कहीं भाजपा से ही जुड़े हुए हैं.

समाजवादी पार्टी ने सुधाकर सिंह (Sudhakar Singh) को प्रत्याशी बनाया है तो वहीं भाजपा ने दारा सिंह चौहान (Dara Singh Chauhan) को, सुधाकर सिंह घोसी विधानसभा क्षेत्र के भावनपुर गॉव के ही रहने वाले हैं जबकि दारा चौहान आजमगढ़ के गेलवारा ग्रामसभा से ताल्लुकात रखते हैं.

Bharat Express Live

Also Read