Bharat Express

Earth: पृथ्वी गोल है और घूमती रहती है फिर भी हम नहीं गिरते…जानें क्यों होता है ऐसा

हमारी धरती 24 घंटे अपनी धुरी पर घूमती रहती है. चूंकि पृथ्वी की गति नियत है यानि ये एक ही रफ्तार से घूमती है

Earth Amazing facts

सांकेतिक फोटो-सोशल मीडिया

Earth: हम सभी पृथ्वी पर निवास करते हैं और अधिकांश लोग इसके बारे में जानते हैं. खासतौर से वो लोग जो विज्ञान के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं लेकिन तमाम लोग ऐसे भी हैं जो इसके बारे में बहुत कुछ नहीं भी जानते हैं.

इन्हीं तमाम लोगों के दिमाग में ये भी सवाल उठता है कि पृथ्वी गोल है और घूमती रहती है फिर भी हम गिरते नहीं हैं, आखिर ऐसा कैसे होता है? हालांकि कुछ लोगों को इसके बारे में विज्ञान की बुक्स से जानकारी मिल भी गई होगी. फिर भी ये हरी-भरी धरा न जाने कितने ही रहस्यों से भरी हुई है और तमाम खगोलीय घटनाओं को खुद में समेटे हुए है.

ये भी पढ़ें-Jammu and Kashmir: कुलगाम में कल से जारी है मुठभेड़; 4 आतंकवादी ढेर, 2 जवान शहीद, इलाके में घेराबंदी-Video

लागू होता है स्थिरता का नियम

तो आइए जानते हैं कि आखिर पृथ्वी के गोल होने और घूमते रहने के बाद भी हम गिरते क्यों नहीं हैं और स्थिर कैसे रह लेते हैं? इसको भौतिकशास्त्र के मुताबिक समझना होगा. इस पर भी बचपन में ही पढ़ाए जाने वाला स्थिरता का नियम लागू होता है.

ये तो लगभग सभी लोग जानते हैं कि हमारी धरती 24 घंटे अपनी धुरी पर घूमती रहती है. चूंकि पृथ्वी की गति नियत है यानि ये एक ही रफ्तार से घूमती है, इसलिए हम महसूस नहीं कर पाते. अगर ये अपनी रफ्तार को कम या अधिक करे तब हम इसे महसूस कर सकेंगे. धरती की रफ्तार 1600 किलोमीटर प्रति घंटा होती है.

इसके एक चक्कर लगाने में ही दिन और रात भी होता है. हम धरती के घूमने को इसलिए महसूस नहीं कर पाते हैं क्योंकि धरती के साथ-साथ उसी रफ्तार से हम भी घूम रहे होते हैं और हमारा शरीर इसका इतना आदी हो चुका है कि हमें कुछ भी पता नहीं चलता. हमारे आस-पास का वातावरण भी घूमता रहता है. इसको लेकर ऑनलाइन प्लेटफॉर्म कोरा पर भी तमाम लोगों ने इसी तरह के जवाब दिए हैं.

कुछ इस तरह भी समझें

ये तो सभी जानते हैं कि धरती एक रफ्तार में ही घूमती रहती है और ये कहीं रुक जाए तो हम जोर का झटका महसूस कर सकते हैं. ये ठीक इस तरह है जैसे हम किसी फ्लाइट पर 800 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से यात्रा कर रहे हैं और तब हमें पता नहीं चलता लेकिन जब ये नीचे आता है और रुकता है, तब हमें जर्क यानि झटका महसूस होता है. हालांकि यात्रा के दौरान शरीर के नीचे का हिस्सा तो स्थिर रहता है लेकिन ऊपरी हिस्से को तेज़ झटका लगता है.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read