Bharat Express

Ayodhya Ram Mandir: अब राम मंदिर परिसर में नहीं ले जा सकेंगे मोबाइल फोन…लगा पूर्ण प्रतिबंध, ये वजह आई सामने

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट दर्शनार्थियों से अनुरोध किया है कि इस व्यवस्था का पालन करें, सहयोग करें.

Ayodhya Pran Pratistha

राम मंदिर

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में इसी साल 22 जनवरी को राम मंदिर का उद्घाटन और रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा होने के बाद से ही मंदिर में प्रतिदिन हजारों भक्त दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. मंदिर परिसर में पूर्ण सुरक्षा व्यवस्था के बीच श्रद्धालु दर्शन कर रहे हैं. इस भीषण गर्मी में भी भक्तों की संख्या कम नहीं हुई है. तो वहीं श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए राम मंदिर परिसर में अब पूरी तरह से मोबाइल फोन प्रतिबंधित कर दिया गया है. यानी अब श्रद्धालु मंदिर में मोबाइल फोन नहीं ले जा सकेंगे.

इसको लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “प्रशासन के साथ ट्र्स्ट की बैठक हुई थी. सुरक्षा, यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए प्रशासन और ट्र्स्ट ने मिलकर ये निर्णय लिया है. सभी दर्शनार्थियों से अनुरोध है कि इस व्यवस्था का पालन करें, सहयोग करें ताकि किसी को भी किसी प्रकार की असुविधा न हो. हमारे यहां मोबाइल रखने की पर्याप्त जगह है.”

ramlala darshan

ये भी पढ़ें-दिल्ली के बेबी केयर सेंटर में लगी भीषण आग, 6 नवजात की मौत, पांच की हालत गंभीर, एक वेंटिलेटर पर

25 मई से लागू हुआ ये नियम

अब श्रद्धालुओं को इस बात का ध्यान रखना होगा, कि अगर वे मोबाइल फोन लेकर राम मंदिर परिसर में न जाएं. बता दें कि इस नियम को 25 मई से लागू कर दिया गया है. बता दें कि शुक्रवार को नृपेंद्र मिश्र की अध्यक्षता में हुई बैठक में ये तय कर लिया गया है कि इसी साल दिसम्बर तक मंदिर निर्माण का कार्य पूरा कर लिया जाए. इसके अलावा परकोटा का काम भी जल्द से जल्द पूरा कराने के लिए चर्चा हुई. इसको लेकर चंपत राय ने बताया कि परकोटे के अंदर राम मंदिर के अलावा 6 और मंदिर होंगे जिसमें भगवान शिव के साथ ही हनुमान जी भी होंगे.

मंदिर परिसर में एक साथ पहुंच सकेंगे 25 हजार लोग

बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नागर शैली में किया गया है और मंदिर 2.7 एकड़ में बनाया गया है. मंदिर की ऊंचाई 161 फीट है. मंदिर में 44 दरवाजे लगाए गए हैं और 392 पिलर है. मंदिर का परिसर इतना बड़ा है कि एक साथ 25 हजार लोग पहुंच सकते हैं. मंदिर में पांच बड़े हॉल हैं, जिनके नाम नृत्य मंडपम, रंग मंडप, शोभा मंडप, प्रार्थना मंडप और कीर्तन मंडप रखा गया है.

तीन मंजिल तक होगा मंदिर का निर्माण

बता दें कि मंदिर का निर्माण कार्य अभी जारी है. तीन मंजिल कर मंदिर का निर्माण होना है. मंदिर के स्तंभों पर सुंदर नक्काशी का कार्य किया गया है जो कि देखने में अति खूबसूरत लगता है. गौरतलब है कि 22 जनवरी 2024 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों मंदिर का उद्घाटन हुआ था और रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा की गई थी.

 

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read

Latest