किसान आंदोलन को रोकने के लिए तैयार हो गई कंक्रीट की दीवार और नुकीले तार, गाजियाबाद में यूपी गेट सील

इस कंक्रीट की दीवार के पीछे दिल्ली पुलिस की बस और गाड़ियों को मुस्तैद किया गया है. चिल्ला बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर सहित तमाम इलाकों में धारा-144 लागू कर दी गई है.

फोटो सोशल मीडिया

Kisan Andolan: किसानों ने एक बार फिर से आंदोलन की हुंकार भरी है और अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए दिल्ली कूच करने का ऐलान किया है तो वहीं दिल्ली की जनता को किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए सरकार ने भी अपनी तैयारी पूरी कर ली है और किसान आंदोलन के रास्ते को बंद करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. 13 फ़रवरी यानी आज के लिए किसानों ने दिल्ली कूच का ऐलान किया है. इसको देखते हुए दिल्ली से सटे गाजियाबाद और नोएडा में भी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त कर दिए गए हैं. इसी के साथ ही किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए तमाम बंदोबस्त भी किए गए हैं.

मालूम हो कि सोमवार को केंद्र सरकार से के साथ बैठक हुई थी, जो असफल रही. इसी के बाद से ये कयास लगाए जा रहे हैं कि 13 फरवरी को भारी संख्या में किसान दिल्ली में घुसने का प्रयास करेंगे, इसको देखते हुए गाज़ीपुर यूपी गेट पर गाजियाबाद- दिल्ली पुलिस के द्वारा कंक्रीट की फौलादी दीवार तैयार कर दी गई है. तो इसी के साथ ही इस कंक्रीट की दीवार के अंदर बैरिकेडिंग फंसा दी गई है. इस तरह से हर हाल में किसानों को दिल्ली के अंदर प्रवेश करने से रोके जाने की कोशिश जारी है. वहीं खबर सामने आ रही है कि किसान दिल्ली के लिए निकल चुके हैं और सिंधू बॉर्डर पर अफरा तफरी का माहौल देखने को मिल रहा है. भीड़ को तीतर-बीतर करने के लिए पुलिस ने आंसु गैस के गोले छोड़े हैं. खबर सामने आ रही है कि किसानों ने दिल्ली की ओर जाने से रोकने के लिए लगाए गए बैरिकेडिंग को तोड़ने की कोशिश की है.

बैरिकेडिंग के ऊपर लगाए गए हैं नुकीले तार

किसान आंदोलन की आग को दिल्ली तक पहुंचने से रोकने के लिए बैरिकेडिंग दीवार के ऊपर नुकीले तार का रोल बनाकर लगाया गया है, जिससे इसकी ऊंचाई लगभग 15 फीट हो गई है. तो इस कंक्रीट की दीवार के पीछे दिल्ली पुलिस की बस और तमाम आधुनिक सुविधाओं से लैस गाड़ियों को मुस्तैद किया गया है. उसके बाद एक बड़ी बैरिकेडिंग की दीवार दिल्ली पुलिस के द्वारा किसानों को रोकने के लिए बनाई गई है. इससे यह साबित होता है कि दिल्ली पुलिस किसी भी हाल में किसानों को दिल्ली के अंदर घुसने से रोकना चाहती है. पुलिस को हर हाल में प्रदर्शनकारी किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के निर्देश दिए गए हैं. दूसरी ओर पुलिस का कहना है कि, किसी को भी कानून-व्यवस्था की स्थिति का उल्लंघन करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

ये भी पढ़ें-UP News: गोरखपुर से दिल्‍ली, बिहार, पंजाब आने-जाने वाली तमाम ट्रेनों का बदल दिया गया है शेड्यूल, ट्रैक पर जारी है कार्य, देखें पूरी लिस्‍ट

बंद हुआ ये रास्ता

किसानों के आंदोलन को देखते हुए आज गाजियाबाद और नोएडा से दिल्ली जाने वाले लोगों को तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. यूपी गेट से मुर्गा मंडी की तरफ से दिल्ली जाने वाला रास्ता बंद हैं. तो वहीं चिल्ला बॉर्डर पर भी भारी सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस जवान तैनात किए गए हैं. गाड़ियों की लंबी कतार चिल्ला बॉर्डर पर देखने को मिल रही हैं. कड़ी चेकिंग के बाद ही लोगों को आगे जाने दिया जा रहा है. यही वजह है कि सुबह से ही यहां पर जाम की स्थिति बनी हुई है. चिल्ला बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर सहित तमाम इलाकों में धारा-144 लागू कर दी गई है.

जानें क्या है मांग

बता दें कि, किसानों के संगठन लगातार फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी को लेकर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं. पहले भी इसको लेकर विरोध प्रदर्शन किए जा चुके हैं. तो वहीं लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर से किसान केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के लिए आंदोलन का रास्ता अपना रहे हैं. सोमवार को केंद्र सरकार के साथ हुई किसान यूनियन की बातचीत बेनतीजा रही.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read