UP Politics: भाजपा के सुंदरकांड पाठ पर डिंपल यादव ने साधा निशाना, बोलीं-“रोजगार, महिला सुरक्षा और किसानों की बदहाली पर सोचें… “

Mainpuri: भाजपा लोगों के हितों के लिए सरकार में आई है. उनको विचार करना चाहिए कि महिलाएं प्रदेश में सुरक्षित कैसे रहें?

Dimple Yadav

सपा सांसद डिंपल यादव

UP Politics: लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश की सियासत तेज हो गई है तो वहीं 22 जनवरी को होने जा रहे राम मंदिर उद्घाटन को लेकर भाजपा पर राजनीति करने का आरोप लगाया जा रहा है. इसी बीच विपक्षी दलों के नेताओं के सनातन धर्म और रामचरितमानस को लेकर विवादित बयान भी लगातार सामने आ रहे हैं. तो वहीं रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा से पहले भाजपा देश भर में रामचरितमानस और सुंदरकांड का पाठ करने जा रही है. इस पर समाजवादी पार्टी की नेता और मैनपुरी से सांसद डिंपल यादव ने ताजा हमला बोला है और बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि “मुझे लगता है कि सरकार में बैठी बीजेपी को लोगों की मूलभूत सुविधाओं पर ध्यान देना चाहिए.”

गांव-गांव जाकर देखें

मैनपुरी में पत्रकारों से बात करते हुए डिंपल यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला और बीजेपी द्वारा पूरे देश में कराए जा रहे सुंदरकांड पाठ व रामचरितमानस को लेकर कहा कि, “भाजपा लोगों के हितों के लिए सरकार में आई है. उनको विचार करना चाहिए कि महिलाएं प्रदेश में सुरक्षित कैसे रहें? वे जब गांव-गांव जाएं और वहां युवाओं की भारी संख्या देखें तो उनको रोजगार कैसे मिले इस पर सोचें.”

ये भी पढ़ें- Ram Mandir: भगवान राम पर विवादित बयान देने वाले जितेंद्र आव्हाड पर भड़के परमहंस आचार्य, बोले- कर दूंगा वध

आवारा पशुओं का निकालें हल

डिंपल यादव ने आवारा पशुओं के मुद्दे पर निशाना साधते हुए कहा कि “जब वे किसानों की बदहाली देखेंगे तब उन्हें इस पर विचार करना चाहिए कि आवारा पशुओं के सवाल पर कोई हल निकला है या नहीं?” महंगाई और बेरोजगारी पर भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, “महंगाई इतनी बढ़ रही है, जहां पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं, बच्चों की शिक्षा उपलब्ध नहीं हो रही है. इन मूलभूत सुविधाओं, जो जनता को मिलनी चाहिए. जिसकी वजह से वो सरकार में हैं. उनका धर्म है इस समय कि लगातार लोगों को सुविधाएं और नौकरी दें. खुशहाली का वातावरण बनाएं, प्रदेश में जो होना चाहिए. मुझे लगता है कि वो पुनर्विचार करेंगे. सही मायने में वो देश को प्रगति के रास्ते पर लेकर जाएंगे.” गौरतलब है कि काफी वक्त से सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य समेत विपक्षी दलों के कई नेता सनातन धर्म और हिंदु धर्म ग्रंथों पर अपमानजनक बयान दे रहे हैं.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read