Bharat Express

Meerut News: मेरठ में महिला वकील की गोली मारकर हत्या, बाइक सवार बदमाशों ने घर के पास ही गोलियों से भूना

Meerut: एसपी सिटी पीयूष सिंह ने बताया कि महिला का अपने ससुराल वालों से विवाद चल रहा था. आशंका है कि इसी विवाद में उनका हत्या हुई है.

महिला वकील की फाइल फोटो

UP News: उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में बुधवार को महिला वकील अंजली गर्ग को बाइक सवार बदमाशों ने गोलियों से भून दिया. जानकारी के मुताबिक वह दूध लेकर घर वापस लौट रही थीं और जैसे ही घर के गेट के पास पहुंचीं, बदमाशों ने उनको गोलियों से भून दिया. इसके बाद वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए. पूरा मामला टीपी नगर थाना क्षेत्र के न्यू मेवला कालोनी का है.

इस मामले में पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी की डीवीआर को कब्जे में ले लिया है और मामले की छानबीन करने में जुट गई है. यह घटना सुबह 6.30 बजे की बताई जा रही है. इस सम्बंध में जानकारी सामने आ रही है कि महिला का ससुराल वालों से काफी लंबे समय से विवाद चल रहा था. सूत्रों की मानें तो महिला वकील ने पहले ही अपनी जान को खतरा बताकर पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई थी, लेकिन पुलिस ने उसकी नहीं सुनी.

ये भी पढ़ें- सियासी खटास में फल लाएंगे मिठास, ममता बनर्जी ने PM मोदी को इस साल भी भेजे आम

वहीं महिला की हत्या के मामले में मेरठ के अधिवक्ताओं ने एसएसपी से मुलाकात की है. एक वकील ने कहा कि नाकारा पुलिस ने महिला को कोई सुरक्षा नहीं दी, जिससे उनको अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. वकील ने बताया कि अंजली गर्ग ने आईजी, एसएसपी, एसपी सिटी और पुलिस के उच्च अधिकारियों के दफ्तर के 6 महीने से चक्कर काट रही थीं और अपनी जान की सुरक्षा के लिए गुहार लगा रही थीं.

अधिवक्ताओं ने भारी संख्या में पहुंचकर एसएसपी ऑफिस का घेराव किया है. वहीं एसएसपी ने अधिवक्ताओं को भरोसा दिलाया है कि जल्द से जल्द बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. एसपी सिटी पीयूष सिंह ने बताया कि, महिला का अपने ससुराल वालों से विवाद चल रहा था. आशंका है कि इसी विवाद में उनका हत्या हुई है. मामले की पुलिस पूरी छानबीन कर रही है.

पति से चल रहा था दो साल से विवाद

जानकारी सामने आ रही है कि मृतक महिला वकील अंजलि गर्ग का अपने चार्टर्ड एकाउंटेंट पति नितिन गर्ग से पिछले दो साल के विवाद चल रहा था और 3 साल पहले ही उनका तलाक हुआ था. वह तभी से अलग रहती थीं. पति दिल्ली में नौकरी करता था. फिलहाल जिस मकान में अंजलि रह रही थीं वह भी ससुराल पक्ष (ससुर पवन गर्ग) के ही नाम था और उसको ससुराल वालों ने शालू बेकरी के मालिक यशपाल को बेच दिया था. बताया जा रहा है कि इस दौरान भी काफी विवाद हुआ था, लेकिन अंजलि ने मकान नहीं छोड़ा. इसी के बाद से दोनों पक्षों के बीच तनाव चल रहा था.

वहीं एसपी सिटी ने ये भी जानकारी दी कि मकान के विवाद को लेकर दोनों पक्ष एक-दूसरे के खिलाफ तहरीर दे रहे थे और दोनों पक्षों को पुलिस ने पाबंद किया था. हालांकि पुलिस इस मामले में कई बिंदुओं पर जांच कर रही है.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read