Bharat Express

UP Politics: “यह राजनीतिक स्टंट है”, पिता स्वामी प्रसाद मौर्य पर फेंका गया जूता तो BJP सांसद बेटी ने दिया बड़ा बयान

संघमित्रा मौर्य ने कहा, “मैं इस तरह की घटनाओं का विरोध करती हूं. ये कोई नई घटना नहीं है. इस तरह की हरकतें पहले भी होती रही हैं.”

संघमित्रा मौर्य (फोटो सोशल मीडिया)

UP Politics: हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) पर जूता फेंका गया था. इस घटना के बाद पहली बार उनकी भाजपा सांसद बेटी संघमित्रा मौर्य की प्रतिक्रिया सामने आई है और इस तरह की घटना को उन्होंने राजनीतिक स्टंट करार दिया है . उन्होंने तमाम पुरानी घटनाओं का भी जिक्र किया और बताया है कि इस तरह की घटना से बड़े-बड़े नेता अछूते नहीं रहे. इसी दौरान उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवानी के नाम का भी जिक्र किया.

बता दें सोमवार को सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य पर ओबीसी सम्मेलन में हिस्सा लेने के दौरान जूता फेंका गया था. हालांकि ये जूता उन्हें लगा नहीं था. आरोपी युवक वकील की ड्रेस में पहुंचा था और इस घटना को अंजाम दिया था. मौर्य के समर्थकों ने आरोपी को पकड़ कर जमकर पिटाई की थी. इस घटना से मौर्य सुर्खियों में आ गए थे. वहीं बदायूं से बीजेपी सांसद उनकी बेटी संघमित्रा मौर्य ने कहा है, “इस तरह की घटनाएं राजनीतिक स्टंट होती है. इस हद तक गिरना गलता है.” भाजपा सांसद आगे बोलीं, “किसी पर जूता फेंकना, स्याही फेंकना, लोग इसे राजनीतिक स्टंट के रूप में इस्तेमाल करते हैं. ताकि वो ऐसा करके फेमस हों और खुद को स्थापित कर सकें.”

ये भी पढ़ें– Shivraj Cabinet Reshuffle: शिवराज कैबिनेट में विस्तार की अटकलें तेज, इन चेहरों को मिल सकती है जगह

मैं करती हूं इस तरह की घटनाओं का विरोध

संघमित्रा मौर्य ने कहा, “मैं इस तरह की घटनाओं का विरोध करती हूं. ये कोई नई घटना नहीं है. इस तरह की हरकतें पहले भी होती रही हैं.” इसके बाद एक-एक कर कई नाम संघमित्रा मौर्य ने बताए. उन्होंने पुरानी घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा, 2008 में अमेरिका में बुश के ऊपर जूता फेंका गया और इस घटना के बाद जूता फेंकने वाला जैदी हीरो बना था और चुनाव तक लड़ गया. संघमित्रा ने आगे 2009 की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि तत्कालीन गृहमंत्री पी चिदंबरम के ऊपर भी जूता फेंका गया और वह वो फेमस हो गए इसके बाद उन्होंने चुनाव लड़ा और जीत हासिल कर विधायक बने. इसके बाद उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का जिक्र करते हुए कहा, “हमारी पार्टी के भीष्म पितामह कहे जाने वाले लालकृष्ण आडवाणी के साथ भी ऐसी घटना हो गई थी.”

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read