ASIC के संस्थापक हरिनारायण राय चौधरी की प्रतिमा का हुआ अनावरण, बतौर चीफ गेस्ट शामिल हुए भारत एक्सप्रेस के CMD उपेन्द्र राय

स्थापना काल के तीन दशकों तक 20 किलोमीटर की परिधि में यह एकमात्र इंटर कॉलेज था, जहां जिले ही नहीं बल्कि बलिया जिले के छात्र भी शिक्षा पाने आते थे.

भारत एक्सप्रेस न्यूज़ नेटवर्क के चेयरमैन, एमडी और एडिटर इन चीफ उपेन्द्र राय

भारत एक्सप्रेस न्यूज़ नेटवर्क के चेयरमैन, एमडी और एडिटर इन चीफ उपेन्द्र राय

Ghazipur:  शनिवार यानी आज गाजीपुर के अष्ट शहीद इंटर कॉलेज (ASIC) के संस्थापक हरिनारायण राय चौधरी की प्रतिमा का अनावरण किया गया. इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भारत एक्सप्रेस न्यूज़ नेटवर्क के चेयरमैन, एमडी और एडिटर इन चीफ उपेन्द्र राय शामिल हुए. उन्होंने हरिनारायण राय चौधरी को पुष्पांजलि अर्पित की. प्रतिमा अनावरण के दौरान वैदिक मंत्रोच्चार से कार्यक्रम स्थल गूंजने लगा.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपेन्द्र राय ने कहा कि प्रतिमा लगने में जो देर हुई उनके लिए हम सब दोषी हैं. हालांकि, देर आए दुरुस्त आए. उपेन्द्र राय ने कहा कि मैंने भी अष्ट शहीद इंटर कॉलेज में बोर्ड का परीक्षा दिया था. तब सबसे ज्यादा अंक मेरे आए थे.  इस दौरान उन्होंने अपने जीवन और शिक्षा से जुड़े कई अनुभव साझा किए. उपेन्द्र राय ने कार्यक्रम के दौरान गुरुओं के सम्मान में तानसेन की एक कहानी भी सुनाई. इसके बाद उन्होंने स्वामी विवेकानंद और रामकृष्ण परमहंस की कहानी भी कही. उन्होंने कहा कि आज के वक्त में कहा जाता है कि आज मानो तो पत्थर नहीं तो भगवान. लेकिन कुछ लोग ऐसे थे जो गुरुओं को ही भगवान मान बैठे थे. उन्होंने कहा कि गुरुओं के सामने स्तुति करनी चाहिए ज्यादा बोलना नहीं चाहिए.

बता दें कि विद्यालय के प्रबंधक अवध किशोर राय ने प्रतिमा के अनावरण से पहले कहा कि हरिनारायण राय चौधरी विद्यालय के कर्णधार थे. उनका जन्म 18 जनवरी 1898 को शेरपुर कलां गांव में हुआ था. उन्होंने कहा कि अष्ट इंटर कॉलेज विद्यालय के प्रति उनका अमूल्य योगदान भुलाया नहीं जा सकता है. उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्त के तीन दशक बाद भी वो कॉलेज से जुड़े रहे.

अष्ट शहीद इंटर कॉलेज का रहा है गौरवशाली इतिहास 

गाजीपुर क्षेत्र में नौ जुलाई 1937 को स्थापित महाविद्यालय एकमात्र अंगीभूत कॉलेज है. कॉलेज के संस्थापक हरिनारायण राय चौधरी ने अपने दम पर 9 छात्रों को लेकर महाविद्यालय की स्थापना की थी. इस अष्ट शहीद इंटर कॉलेज का गौरवशाली इतिहास रहा है. स्थापना काल के तीन दशकों तक 20 किलोमीटर की परिधि में यह एकमात्र इंटर कॉलेज था, जहां जिले ही नहीं बल्कि बलिया जिले के छात्र भी शिक्षा पाने आते थे. यहां से शिक्षा पाकर छात्र उच्च स्तर पर देश का नाम रोशन कर रहे हैं.

बता दें कि पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी भी यहां के छात्र रह चुके हैं. अष्ट शहीद इंटर कॉलेज के छात्र  प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर मीडिया जगत में छात्र सेवा कर रहे हैं. बताया गया है कि हरिनारायण राय चौधरी जीवन के अंतिम समय तक कॉलेज के उन्नति के लिए सहयोगियों के संपर्क में रहे.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read