Mizoram Election 2023: पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की सुरक्षा में रह चुके हैं ZPM के मुखिया लालदुहोमा, कभी लड़ा था कांग्रेस से लोकसभा का चुनाव

Mizoram Election 2023: ZPM पार्टी के अध्यक्ष और संस्थापक लालदुहोमा हैं. वह भारत की पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के मुख्य सुरक्षा अधिकारी भी रह चुके हैं.

ZPM के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार लालदुहोमा

Mizoram Election 2023: देश के 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए नतीजे जहां कल आ चुके हैं, वहीं विधानसभा चुनाव के नतीजों के लिए मतगणना जारी है. ताजा अपडेट के मुताबिक मिजोरम में ZPM की सरकार बनती हुई दिख रही है. ZPM के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार लालदुहोमा ने कहा, “मिजोरम वित्तीय संकट का सामना कर रहा है. निवर्तमान सरकार से हमें यही विरासत मिलने वाली है. हम अपनी प्रतिबद्धता पूरी करने जा रहे हैं. वित्तीय सुधार आवश्यक है और उसके लिए हम एक संसाधन जुटाने वाली टीम बनाने जा रहे हैं.”

40 सदस्यीय मिजोरम विधानसभा के चुनाव को लेकर जहां एक्जिट पोल में तीन-तरफा मुकाबला होने की उम्मीद जताई गई थी, वहीं हो रही मतगणना के अनुसार राज्य में ZPM सत्ता पर काबिज होने जा रही है.

40 विधानसभा सीटों के लिए 174 उम्मीदवार मैदान में थे. एमएनएफ, जेडपीएम और कांग्रेस ने मिजोरम की सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ा था. हालांकि राज्य में सत्ता विरोधी लहर से इनकार नहीं किया जा सकता. मिजोरम विधानसभा में 8.52 लाख मतदाता हैं. कह सकते हैं कि यह एक तरह से यूपी की किसी बड़ी लोकसभा के समान है.

लालदुहोमा ZPM के मुखिया

चुनावी मतगणना के रुझान और नतीजों के मुताबिक ZPM की राज्य में संभावित रूप से सरकार बनती हुई दिख रही है. लालदुहोमा ZPM (जोरम पीपल्स मूवमेंट) पार्टी के मुखिया हैं. ऐसे में वे मुख्यमंत्री बन सकते हैं.

राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री जोरमथांगा की मिजो नेशनल फ्रंट (MNF) पार्टी की सरकार मिजोरम में पिछले चुनावों में बनी थी. 2018 के विधानसभा चुनाव में राज्य की सत्ता पर काबिज MNF को 26 सीटें, ZPM को 8 सीटें, कांग्रेस को 5 सीटें तो भाजपा को 1 सीट पर जीत हासिल हुई थी.

आंदोलन से निकली पार्टी है ZPM

ZPM पार्टी का भी एक आंदोलन से निकली पार्टी है. वहीं जो जानकारी निकलकर सामने आ रही है उसके अनुसार पार्टी में युवा उम्मीदवारों की संख्या काफी अधिक है. ZPM पार्टी के अध्यक्ष और संस्थापक लालदुहोमा हैं. वह भारत की पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के मुख्य सुरक्षा अधिकारी भी रह चुके हैं. वहीं साल 1984 में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा था और जीता था.

इसे भी पढ़ें: Election Result 2023: राजस्थान में इन सीटों पर अपनों के बीच थी जंग, कहीं पति के सामने पत्नी तो कहीं भतीजी के सामने चाचा थे मैदान में

ZPM साल 2018 के विधानसभा चुनाव में राज्य की एक गठबंधन पार्टी में शामिल हो गई थी. ऐसे में लालदुहोमा को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाया गया था. वहीं चुनाव आयोग ने इस गठबंधन दल को उस समय आधिकारिक पार्टी के रूप में मान्यता नहीं मिली थी.

Bharat Express Live

Also Read