अगर आप भी लैपटॉप गोद में रखकर करते हैं इस्तेमाल? हो सकती है ये खतरनाक बीमारी, इन चीजों का रखें ध्यान

Laptop Tips: आजकल जब सब कुछ डिजिटल हो गया है. ज्यादातर लोग लैपटॉप पर काम करने लगे हैं. मगर क्या आप जानते हैं कि गोद में लैपटॉप रखकर काम करना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है. जानते हैं कैसे?

Laptop Tips

Laptop Tips

Laptop Tips: आजकल जब सब कुछ डिजिटल हो गया है. ज्यादातर लोग लैपटॉप पर काम करने लगे हैं. अगर काम घर से हो तो गोद में लैपटॉप रखकर चलाना बहुत ही आम बात हो गई है, हर दूसरा व्यक्ति आपको घर में बेड पर बैठकर आराम से काम करते वक्त गोद में लैपटॉप के साथ नजर आ जाएगा. मगर क्या आप जानती हैं कि गोद में लैपटॉप रखकर काम करना भी आपकी सेहत के लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है? यकीनन आपने इस पर कभी ध्यान नहीं दिया होगा, लेकिन गोद में लैपटॉप लेकर काम करना भी आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है. जानते हैं कैसे?

लैपटॉप से निकलती हैं इलैक्ट्रॉमेग्नेटिक रेडिएशन्स

बता दें कि लैपटॉप का इस्तेमाल करते समय उसमें से इलैक्ट्रॉमेग्नेटिक रेडिएशन्स निकलती हैं. हालांकि, लैपटॉप से जो रेडिएशन्स निकलती हैं वो वाई-फाई और ब्लूटूथ की तुलना में कम होती हैं. लेकिन जब आप इसे अपनी गोद में रखते हैं तो यह रेडिएशन सीधे बॉडी के कॉन्टैक्ट में आ जाती है. इससे आपकी सेहत को नुकसान पहुंच सकता है.

इस तरह से शरीर नुकसान पहुंचा सकता है

आपको लग सकता है कि लैपटॉप क्या ही नुकसान पहुंचाएगा, मगर आपका ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है. यह वायरलेस इंटरनेट सिग्नल (microwaves) प्राप्त करता है और ईएमएफ (Electric and magnetic fields) को रेडिएट करता है. इसलिए अगर गोद में रख कर लैपटॉप का इस्तेमाल कर रही हैं, तो आपके रिप्रोडक्टिव सिस्टम को नुकसान पहुंच सकता है और आपके एग्स भी डैमेज हो सकते हैं. दूसरी ओर यह पुरुषों में भी शुक्राणुओं की संख्या को प्रभावित कर सकता है.

पीठ और गर्दन में हो सकता है खतरनाक दर्द

हाल ही में हुए एक अध्ययन में पाया गया कि लैपटॉप को अपनी गोद में रखने से गर्दन और पीठ में दर्द हो सकता है. इसलिए लैपटॉप को एक टेबल पर रखें या आप चाहें तो, एक स्टैंडिंग डेस्क का उपयोग कर सकती हैं, जो आपके बॉडी पॉस्चर के लिए बेहतर है.

इससे आंखों की समस्या हो सकती है

कई बार ऐसा भी हुआ होगा जब आपने आराम से और बिस्तर पर टाइप करते हुए अपने लैपटॉप को अपनी गोद में रखा होगा. स्क्रीन से निकलने वाली रेज़ आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं और मेलाटोनिन रिलीज को दबा सकती हैं. जिससे आपको नींद में परेशानी महसूस होने लगती है.

कुछ प्रकार के कैंसर हो सकते हैं

यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल बेसल के शोध में सामने आया कि आपकी गोद में रखा हुआ हीटेड लैपटॉप, आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है. जिससे त्वचा का कैंसर भी विकसित हो सकता है. चूंकि लोग अपने प्रजनन अंगों के पास लैपटॉप रखते हैं, यह प्रोस्टेट और ओवेरियन कैंसर का कारण बन सकता है.

स्किन को भी जला सकता है

यदि आपको भी अपनी गोद में लैपटॉप रखकर काम करने की आदत है तो, संभल जाइए! नहीं तो आप आप “टोस्टेड स्किन सिंड्रोम” विकसित कर सकती हैं. एक मेडिकल रिपोर्ट में पाया गया है कि लंबे समय तक त्वचा के बगल में लैपटॉप जैसे उपकरणों को रखने से असामान्य दिखने वाली त्वचा की स्थिति या लंबे समय तक गर्मी के संपर्क में रहने के कारण दाने हो सकते हैं.

जरूर ध्यान दें

अगर आप लोग भी बीमारियों से बचना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे बेस्ट यही है कि आप लैपटॉप को टेबल पर रखकर ही चलाएं. आंखों की देखभाल के लिए हर 20-30 मिनट में ब्रेक लें और अपनी आंखों को आराम दें. इन टिप्स को फॉलो कर आप गोद में लैपटॉप रखकर चलाने से होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं से बच सकते हैं.

Bharat Express Live

Also Read