Under-19 World Cup 2024 के फाइनल में कैसे डूबी भारत की नैया? ये हैं हार के 5 कारण

साउथ अफ्रीका की मेजबानी में खेले गए आईसीसी मेन्स अंडर-19 वर्ल्ड कप 2024 के फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 79 रनों से हरा दिया.

Team India U19

भारतीय अंडर-19 टीम (फोटो- बीसीसीआई)

India U19 vs Australia U19 Final: साउथ अफ्रीका की मेजबानी में खेले गए आईसीसी मेन्स अंडर-19 वर्ल्ड कप 2024 के फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 79 रनों से हरा दिया. बेनोनी में खेले गए इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और 253 रन बनाए. इसके बाद टारगेट का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 174 रन पर ढेर हो गई. कंगारू टीम ने भारत को हराकर चौथी बार अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब जीता, वहीं टीम इंडिया के लिए छठी बार खिताब जीतने का सपना टूट गया.

भारत के हार के पांच कारण

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम की बल्लेबाजी और गेंदबाजी के साथ-साथ फील्डिंग भी औसत रहा. ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 253 रन बनाए, जो अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में अब तक का सबसे बड़ा स्कोर रहा. आइए उन पांच कारणों को जानते हैं, जिसने भारतीय टीम को वर्ल्ड चैंपियन का सपना तोड़ दिया.

भारतीय टीम का टॉस गंवाना

भारतीय अंडर-19 टीम फाइनल में टॉस नहीं जीत पाई. अगर भारतीय टीम पहले टॉस जीतती तो बल्लेबाजी करना पसंद करती है. टीम इंडिया के कप्तान फाइनल में टॉस नहीं जीत सके. कंगारू टीम के कप्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी और अच्छा स्कोर बनाया, जिसके चलते भारतीय टीम शुरुआत से ही दबाव में रही.

टॉप ऑर्डर का खराब प्रदर्शन

टारगेट का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही. मुशीर खान (22 रन), कप्तान उदय सहारन (8 रन) और सचिन धस (9 रन) बना सके. मुशीर खान और उदय सहारन इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में टॉप 2 खिलाड़ी रहे. कप्तान ने 397 रन बनाए. वहीं मुशीर खान ने 360 रन बनाए. जबकि, सचिन धास 303 रन बनाए.

मजबूत साझेदारी का न होना

भारतीय टीम की बल्लेबाजी के दौरान कोई भी खिलाड़ी बेहतरीन साझेदारी नहीं बना पाए. भारत की ओर से सबसे बड़ी साझेदारी 46 रनों की थी, जो नौवें विकेट के लिए मुरुगन अभिषेक और नमन तिवारी के बीच हुई थी.

दबाव नहीं झेल सके खिलाड़ी

फाइनल मुकाबले में 254 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी भारतीय टीम दबाव को नहीं झेल सकी और कंगारू टीम के सामने एक तरह सरेंडर कर दिया. पूरे मुकाबले में टीम इंडिया के कोई भी बल्लेबाज कमाल नहीं दिखा पाए. ओपनर आदर्श सिंह, मुरुगन अभिषेक और मुशीर खान को छोड़कर कोई भी खिलाड़ी दोहरे अंकों तक नहीं पहुंच पाए.

स्पिन गेंदबाज नहीं कर पाए कमाल

ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी के दौरान कप्तान उदय सहारन ने स्पिन गेंदबाजों के तौर पर आदर्श सिंह, मुरुगन अभिषेक, प्रियांशु मोलिया और सौमी पांडे को लगाया था. लेकिन चारों गेंदबाज कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए. चारों गेंदबाजों ने 141 रन खर्च कर सिर्फ 2 विकेट झटके. ये भी एक बड़ा कारण है.

ये भी पढ़ें- Under 19 World Cup 2024 Final: कंगारूओं ने 3 महीने में 2 बार तोड़ा वर्ल्ड कप का सपना… विराट, रोहित, उदय-सचिन सब फेल

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

    Tags:

Also Read