Bharat Express

पेरू में गहनों से लदे मिले 800 साल पुराने 11 शव, मृतकों के शरीर पर थे हार और कंगन सहित ये आभूषण

क्यूवा ने कहा कि इन अवशेषों के साथ छेड़छाड़ के संकेत मिलते हैं और संभव है कि इन लोगों की मौत बहुत हिंसक रही होगी.

peru

सांकेतिक फोटो-सोशल मीडिया

Peru: पुरातत्वविदों (Archaeologists) को पेरू (Peru) में बड़ी सफलता मिली है. यहां पर उनको खोज के दौरान 800 साल पुराने अवशेष मिले हैं, जिसमें उनको 11 लोगों के शव मिले हैं. चौंकाने वाली बात तो ये है कि ये सभी शव बेशकीमती गहनों से लदे हुए थे, जिसमें बालियां और हार शामिल है.

पुरातत्वविदों के मुताबिक, ये चिमू सभ्यता के धनी सदस्यों के अवशेष हैं. यह इंका सभ्यता से पहले का एक समाज था और जो प्रशांत महासागर और एंडीज पहाड़ों के बीच सूखे मैदानों में सदियों तक फला-फूला था.

जानें चिमू सभ्यता के बारे में

मुख्य पुरातत्वविद सिंथिया क्यूवा ने बताया कि उत्तरी पेरू के तटीय मैदानों पर लगभग 800 ईस्वी से लेकर 1,400 के दशक तक चिमू लोग खूब फले-फूले और वे अपनी भव्य कला (सिरामिक, धातुकला और कपड़ों) के लिए जाने जाते थे. उनकी धार्मिक प्रथाएं बहुदेववादी थीं और वे कई देवताओं की पूजा करते थे. इसके अलावा वह अत्यधिक उत्पादक सीढ़ीदार खेती और प्रशांत तट के साथ लंबी दूरी के व्यापार नेटवर्क के लिए भी प्रसिद्ध थे.

चिमू ने समुद्र तटों के साथ व्यापारिक नेटवर्क भी स्थापित किया था. क्यूवा ने आगे बताया कि इंका लोगों ने चिमू साम्राज्य को 1400 के दशक के अंत तक हरा दिया था. तो वहीं इस घटना के कई दशक बाद स्पेनिश आक्रमणकारियों ने 1532 में इंका पर जीत हासिल कर ली थी. चिमू समाज अत्यधिक वर्गीकृत था, जिसमें शासक वर्ग, कारीगर, किसान और मजदूर के साथ ही लोहार, कुम्हार और बुनकर भी शामिल थे. सबसे बड़ी बात तो ये है कि उनके किसान उन्नत सिंचाई प्रणालियों में भी महारत रखते थे.

इन गहनों के साथ दफनाए गए थे शव

इसको लेकर मुख्य पुरातत्वविद सिंथिया क्यूवा के मुताबिक, खोज में करीब 800 साल पुराने 11 व्यक्तियों के अवशेष पाए गए हैं. ये व्यक्ति हार, बालियों और कंगनों जैसे गहनों के साथ दफनाए गए थे. उन्होंने ये भी बताया कि “अवशेषों के साथ जो आभूषण मिले हैं, उनसे कहा जा सकता है कि ये लोग शायद चिमू के शासक वर्ग के सदस्य थे.

ये भी पढ़ें-Snakes Ruled: जानें किस आइलैंड पर है सिर्फ सांपों का राज? सरकार ने लोगों के जाने पर लगाई रोकजानें

अवेशेषों के साथ मिले छेड़छाड़ के संकेत

क्यूवा ने खोज में मिले अवशेषों को लेकर ये भी बताया है कि इन अवशेषों के साथ छेड़छाड़ के संकेत मिले हैं. उनका कहना है कि हो सकता है कि इन लोगों की मौत बहुत हिंसक रही हो. इसी के साथ ही उन्होंने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा है कि अवशेष शहर के ऐसे हिस्से में पाए गए हैं जहां आमतौर पर कब्रिस्तान नहीं होते थे.

यहां पर की गई है खोज

क्यूवा ने मीडिया को ये भी जानकारी दी कि यह खोज चिमू की राजधानी चान चान में की गई, जो आधुनिक पेरूवियाई शहर ट्रुजिलो के उत्तर में थोड़ी दूरी पर स्थित है. उन्होंने बताया कि यह प्राचीन राजधानी अपनी विस्तृत मिट्टी-ईंट वास्तुकला के लिए जानी जाती है, जो कभी मिट्टी की ईंटों के दुनिया के सबसे बड़े शहरों में से एक था. उन्होने कहा कि यह खोज अप्रैल में शुरू हुई एक खुदाई अभियान के दौरान की गई. इसका उद्देश्य एक महल परिसर के चारों ओर की दीवारों को साफ करना था.

कांसे या सोने के आभूषण

मुख्य पुरातत्वविद सिंथिया क्यूवा ने खोज में मिले शवों व गहनों की जानकारी देते हुए बताया कि इन आभूषणों को बनाने के लिए इस्तेमाल की गई सामग्री का विवरण नहीं दिया गया है. इससे पहले भी खुदाई में चिमू काल के गहने और अवशेष मिलते रहे हैं. उनके अध्ययन के आधार पर कहा जाता है कि उस सभ्यता के लोगों के गहने अक्सर कांसे या सोने के बने होते थे.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read