15 फरवरी से शुरू होने वाली है CBSE की परीक्षाएं, जारी हुआ फर्जी अफवाहों को लेकर अलर्ट

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने उन सोशल मीडिया हैंडल की एक लिस्ट जारी की है, जो सीबीएसई के नाम और लोगो का उपयोग कर रहे हैं और गलत सूचना फैला रहे हैं.

CBSE Board Exam 2024: किसी भी परीक्षो को लेकर तमाम तरह की अफवाहें सुनने को मिलती है. वहीं इस पर लगाम लगाने के लिए सीबीएसई ने सोशल मीडिया हैंडल की लिस्ट जारी की है. वहीं सीबीएसई ने छात्रों को इस तरह के सभी सोशल मीडिया हैंडल पर विश्वास नहीं करने को लेकर अलर्ट भी जारी किया है. बता दें कि इस साल सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू होने जा रही है.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने उन सोशल मीडिया हैंडल की एक लिस्ट जारी की है, जो सीबीएसई के नाम और लोगो का उपयोग कर रहे हैं और गलत सूचना फैला रहे हैं. CBSE ने छात्रों के लिए अलर्ट भी जारी किया है और कहा कि स्टूडेंट्स इन सोशल मीडिया हैंडल पर बिल्कुल भी भरोसा न करें. बोर्ड ने कहा कि सीबीएसई का केवल एक आधिकारिक एक्स अकाउंट @cbseindia29 है. छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों को सिर्फ इसी पर भरोसा करना चाहिए.

सीबीएसई ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि आगामी सीबीएसई दसवीं और बारहवीं परीक्षाओं के बारे में अफवाहों और फर्जी सूचनाओं के खिलाफ 15 फरवरी, 2024 से 02 अप्रैल, 2024 तक बोर्ड ने विस्तृत व्यवस्था की है.

पिछले दिनों देखा गया है कि परीक्षा के समय कुछ अराजक तत्व उत्पात मचा देते हैं. यूट्यूब, फेसबुक, एक्स, टेलीग्राम और अन्य सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलाने के लिए प्रभावी बनें. पेपर लीक के बारे में कई प्लेटफॉर्म परीक्षा के प्रश्न पत्रों तक पहुंच का दावा करते हैं.

शरारती तत्व सैंपल पेपर्स के फर्जी लिंक भी इस दावे के साथ प्रसारित करते हैं कि प्रश्न पूछे जाएंगे. उन सैंपल पेपर्स से हो. शरारती तत्व प्रश्नपत्रों की फर्जी तस्वीरें/वीडियो भी प्रसारित करते हैं, ऐसा उनका दावा है. उनके पास प्रश्नपत्र उपलब्ध है जिसे भुगतान करके उपलब्ध कराया जा सकता है.

लूटने का इरादा

ये व्यक्ति, समूह और एजेंसियां ​​भोले-भाले छात्रों और अभिभावकों को लूटने का इरादा रखते हैं. क्योंकि वे बदले में पैसे की मांग करते हैं. ऐसी गैरजिम्मेदाराना हरकतें भ्रम भी पैदा करती हैं और छात्रों और जनता में दहशत.

बोर्ड फर्जी खबरें और अफवाहें फैलाने वालों की पहचान करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सतर्क और सक्रिय है. सीबीएसई कानून प्रवर्तन एजेंसियों की मदद से स्थिति पर बारीकी से नजर रख रहा है.

फर्जी खबरें फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई

सीबीएसई किसी छात्र के खिलाफ अनुचित साधन नियमों और विभिन्न फर्जी खबरें फैलाने में लिप्त पाए जाने पर आईपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई करेगा. अभिभावकों से भी अनुरोध है, अपने बच्चों को इस तरह की अफवाहों पर विश्वास न करने और ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल न होने के लिए निर्देशित करें
जो आगामी बोर्ड परीक्षाओं के सुचारू संचालन में बाधा डालता है.

इसे भी पढ़ें: Farmers Protest Live Updates: मानने को तैयार नहीं किसान, शंभू बॉर्डर पर ओवरब्रिज की रेलिंग तोड़ी, बैरिकेड्स हटाया

इसलिए जनता को 2024 के दौरान ऐसी असत्यापित खबरों और अफवाहों के प्रति सचेत किया जाता है. परीक्षाओं और आगे अनुरोध किया गया है कि ऐसी गतिविधियों में भाग न लें या ऐसा न फैलाएं. अगर आपके पास ऐसी कोई खबर आ रही है तो कृपया सीबीएसई को ई-मेल आईडी पर सूचित करें

Bharat Express Live

Also Read