Assembly Election Results 2023

‘कांग्रेस को नहीं हिंदू वोटों की जरूरत’, आचार्य प्रमोद कृष्णम बोले- कुछ नेताओं को है हिंदू और राम नाम से नफरत

Congress Hates Hindu: कांग्रेस पर लगातार हिंदू विरोधी होने के आरोप लगते रहे हैं. इस बीच पार्टी के ही एक नेता ने कांग्रेस को आईना दिखा दिया है.

Congress Hates Hindus: देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी अपनी पूरी ताकत झोंक रही हैं.  बहुसंख्यक आबादी को लुभाने के लिए पार्टी लगातार खुद को प्रो हिंदू दिखाने की कोशिश कर रही है. दूसरी ओर पार्टी के ही एक नेता ने कांग्रेस को मुसीबत में डाल दिया है. ये नेता कोई और नहीं बल्कि आचार्य प्रमोद कृष्णम हैं. उन्होंने दावा कर दिया है कि कांग्रेस में कई ऐसे नेता हैं जो कि हिंदू और भगवान राम से नफरत करते है. इसके चलते यह सवाल फिर से खड़ा हो गया है कि क्या कांग्रेस पार्टी को हिंदुओं का वोट नहीं चाहिए?

कांग्रेस पार्टी के लिए साल 2019 में लखनऊ लोकसभा सीट से राजनाथ सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ चुके आचार्य प्रमोद कृष्णम ने मुखर होते हुए कहा है कि कांग्रेस में कुछ ऐसे नेता हैं, जिन्हें राम मंदिर से ही नहीं, राम से भी नफरत है. आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा है कि कई ऐसे नेता हैं, जो कि आए दिन हिंदू धर्मगुरुओं का अपमान करते हैं और हिंदुओं के प्रति अपनी नफरत जगजाहिर करते रहते हैं. आचार्य ने कहा कि कांग्रेस के हिंदू विरोधी नेताओं को यह भी पसंद नहीं है कि पार्टी में कोई हिंदू आचार्य भी हो.

यह भी पढ़ें-CM नीतीश के खिलाफ जीतन राम मांझी ने विधानसभा में दिया धरना, बोले- उन्हें कुछ दिनों से जहरीला पदार्थ खिलाया जा रहा

कांग्रेस ने नहीं बनाया स्टार प्रचारक

बता दें कि पांच राज्यों में चुनाव हो रहे हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी ने प्रमोद कृष्णम को प्रचार में शामिल नहीं किया है. इसको लेकर उन्होंने कहा कि शायद पार्टी को हिंदुओं के समर्थन की जरूरत नहीं है. उनके बयानों से साफ लग रहा है कि वो पार्टी से नाराज हैं लेकिन जब इस पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि नाराजगी का कोई कारण नहीं है, लेकिन संभावना है कि कांग्रेस को हिंदुओं के समर्थन की जरूरत नहीं है.

यह भी पढ़ें-Delhi Pollution: दिल्ली में नहीं लागू होगा ऑड ईवन, केजरीवाल सरकार ने वापस लिया फैसला

पार्टी नेतृत्व पर उठाए सवाल?

उन्होंने कहा कि चुनावों में किसी हिंदू धर्मगुरू को स्टार प्रचारक बनाने का एक मकसद होता है, लेकिन शायद कांग्रेस को इस मोटिव में कोई कमी नजर आ रही होगी. इसलिए उन्होंने यह फैसला किया है. खास बात यह है कि आचार्य लगातार ‘उन्हें, उन्हें’ शब्द बोल रहे थे, इसको लेकर जब सीधा सवाल पूछा गया तो उन्होंने  पार्टी चलाने वालों पर ही अपना इशारा कर दिया.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read