किसानों का दिल्ली कूचः जानें कहा हैं 2020 किसान आंदोलन के नेता राकेश टिकैत?

Farmer Protest Update Rakesh Tikait BKU: किसानों के दिल्ली कूच के बीच पिछले आंदोलन की अगुवा नेता रहे राकेश टिकैत कहां हैं. हालांकि वे भी सरकार को घेरने के लिए कुछ और ही प्लानिंग कर रहे हैं.

Farmer Protest Update Rakesh Tikait BKU

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत.

Farmer Protest Update Rakesh Tikait BKU: किसान मजदूर संघर्ष की अगुवाई में पंजाब के हजारों किसान हरियाणा के शंभू बाॅर्डर पर जमे हुए हैं. वे यहां से दिल्ली पहुंचना चाहते हैं लेकिन हरियाणा पुलिस की मोर्चेबंदी के आगे उनकी एक नहीं चल रही है. फिलहाल पुलिस किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैल के गोले छोड़ रही है तो वहीं आंदोलन कारी किसान पत्थरबाजी कर रहे हैं. इस बीच दिल्ली से सटे सभी बाॅर्डर सील कर दिए गए हैं. इस बीच करीब दो बार केंद्रीय मंत्रियों ने किसानों से मुलाकात की लेकिन एमएसपी पर गारंटी कानून और अन्य मांगों पर किसानों के अड़ियल रवैये के चलते बातचीत बेनतीजा रही.

इस सबके बीच 2020 में गाजीपुर बाॅर्डर पर किसान आंदोलन के दौरान मोर्चा संभालने वाले राकेश टिकैत फिलहाल आंदोलन से गायब है. राकेश टिकैत बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं. टिकैत इस आंदोलन में हिस्सेदार नहीं हैं लेकिन 16 फरवरी को किसान संयुक्त मोर्चा पूरे देश में प्रदर्शन करेगी. इसके बाद वे आगे क्या करेंगे इसको लेकर अभी भी कुछ भी क्लियर नहीं है.

यह भी पढ़ेंः शंभू बाॅर्डर पर हालात बिगड़े, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले, लाल किला भी बंद

16 को पूरे देश में चक्का जाम करेंगे टिकैत

राकेश टिकैत ने सोशल मीडिया के जरिए केंद्र पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने भारत बंद को असफल बताने वाले किसान नेताओं की गिरफ्तारी का दावा किया है. उन्होंने कहा कि आंदोलन से डरी एमपी सरकार ने प्रदेश अध्यक्ष को जेल भेज दिया है. उन्होंने नेताओं की रिहाई की मांग की है.

ये हैं किसानों की दो प्रमुख मांगें

इधर पंजाब के किसानों ने ऐलान किया है कि चाहें उन पर गोली चले या लाठी हम अपना शांतिपूर्ण प्रदर्शन करेंगे किसी से टकराएंगे नहीं. उनकी दो प्रमुख मांगें हैं पहली एमएसपी की कानूनी गारंटी मिले और दूसरी बिना शर्त के किसानों की कर्जमाफी हो.

यह भी पढ़ेंः किसानों का दिल्ली कूचः ट्रैक्टरों पर खालिस्तानी दीप सिद्धू के पोस्टर, दिल्ली-नोएडा बाॅर्डर पर जाम, जानें प्रमुख मांगें

Bharat Express Live

Also Read