Bharat Express

वॉशिंग मशीन में धोते हैं कपड़े तो इन बातों का रखें ध्यान, वरना Washing Machine बन जाएगा कबाड़

गीले कपड़ों के कारण मशीन में बदबू भी फैल जाती है और फफूंद लगने का भी जोखिम होता है.

कुछ समय पहले तक जहां महिलाएं हाथों से कपड़े धोती थीं लेकिन आजकल अधिकांश घरों में आपको वॉशिंग मशीन मिल जाएगा और लोग अब घर के कपड़े इसी में साफ करते हैं ताकि उन्हें मेहनत ना करनी पड़े और समय की भी बचत हो. आजकल ऑटोमैटिक मशीनों का क्रेज काफी ज्यादा है और इसमें कुछ मेहनत भी नहीं होती है. बस कपड़े मशीन में लगाओ और फिर निकालकर सुखा लो. लेकिन, वॉशिंग मशीन ऑटोमैटिक हो या सेमी-ऑटो, इनमें कपड़े धोने के भी कुछ नियम होते हैं. अगर इसकी समझ न हो तो कपड़े ठीक से साफ नहीं होंगे. वहीं मशीन भी डैमेज हो सकती है. ऐसे में यदि आप अपने वॉशिंग मशीन को नया और साफ रखना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों का खास ध्यान रखना होगा.

वॉशिंग मशीन में कपड़े धोने के नियम

छोटे वॉशिंग मशीन में पानी की कैपेसिटी भी कम ही होती है. ऐसे में अधिक पानी भरने से वॉशिंग मशीन में सारे कपड़े नहीं आ पाते हैं. इसलिए वॉशिंग में दिए गए लेवल तक ही पानी भरें और मशीन में लेवल से ज्यादा पानी भरने से बचें.

कपड़ों की कैपेसिटी

छोटे वॉशिंग मशीन में ज्यादा कपड़ों के कारण लोड बढ़ जाता है. ऐसे में आपको मशीन में 80 फीसदी कपड़े ही डालने चाहिए ताकि पानी की जगह पर्याप्त बचे. वहीं सारे भारी कपड़ों को मशीन में एक साथ न डालें और हल्के कपड़ों के साथ-साथ भारी कपड़े मिलाते रहें. इससे मशीन पर भार भी नहीं पड़ेगा और समय भी कम लगेगा.

ये भी पढ़े:Glowing skin tips: ग्लोइंग स्किन के लिए अपनाएं नेचुरल उपाय, त्वचा की कई समस्याओं का है इलाज

इन बातों का रखें खास ख्याल

वॉशिंग मशीन की बेहतर फंक्शनिंग के लिए सबसे पहले पॉकेट चेक कर लें, उसके बाद ही इन्हें मशीन में डाले ध्यान रहें कि कपड़ों में प्लास्टिक, टिशू, सिक्के और चाभियां बिल्कुल न रहें. साथ ही गीले कपड़ों को ज्यादा देर तक मशीन में न रखें. गीले कपड़ों के कारण मशीन में बदबू भी फैल जाती है और फफूंद लगने का भी जोखिम होता है. साथ ही साथ लिंट ट्रेप और फिल्टर की समय-समय पर सफाई भी होनी चाहिए.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read