Bharat Express

Adani Foundation

अडानी स्किल डेवलपमेंट सेंटर की विशेष टीम कौशल विकास के तहत महिलाओं को सिलाई, जूते बनाना, स्वेटर बनाना, धूप और धूपबत्ती बनाने का प्रशिक्षण दे रही है.

अडानी ग्रुप की ओर से मई 2016 में सुपोषण प्रोजेक्ट शुरू किया गया था, जिससे जनसमुदाय में न केवल सुविधाएं बढ़ीं, अपितु स्थानीय स्तर पर रोजगार भी पनपा. अब लाखों लोगों की आबादी को अडानी फाउंडेशन से मदद मिल रही है.

Adani Foundation awareness campaign: अडानी फाउंडेशन ने विश्व स्वास्थ्य दिवस पर उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया. महिलाओं की अगुवाई में रैली निकाली गई, जिसमें पोस्टर के जरिये लोगों को जंक फूड के दुष्प्रभाव के बारे में समझाया गया.

APSEZ Records 2024: भारत की सबसे बड़ी बंदरगाह और लॉजिस्टिक्स कंपनी APSEZ ने रिकॉर्ड तोड़ा है. वित्तीय वर्ष 2024 में वैश्विक स्तर पर 420 MMT से अधिक कार्गो को संभाला है. वहीं, घरेलू बंदरगाहों में 408 MMT से अधिक कार्गो का योगदान दिया है.

इस मौके पर समुदाय के धात्री माताओं, गर्भवती महिलाओं और किशोरियों को प्रोटीन युक्त आहार का सेवन करने के बारे में बताया गया.

अदाणी फाउंडेशन अमेठी में किसानों को पराली प्रबंधन में मदद कर रहा है. यूपी के इस इलाके में फसल अवशेष से सीमेंट प्लांट को बिजली मिल रही है. अदाणी फाउंडेशन के अधिकारियों से जानिए ऐसा कैसे हुआ-

प्रोजेक्ट सुपोषण अडानी विल्मर की एक सीएसआर पहल है, जिसे अदाणी फाउंडेशन द्वारा कार्यान्वित किया जाता है।

अडानी ग्रुप का बाजार पूंजीकरण गुरुवार, 7 दिसंबर को 7-7 प्रतिशत बढ़कर 15.14 लाख करोड़ हो गया. शुक्रवार को शेयर मार्केट बंद होने पर ग्रुप का मार्केट कैप 11.02 लाख करोड़ था.

Fortune Suposhan Project: सुपोषण अधिकारी ममता यादव द्वारा धात्री माताओं को नवजात की देखभाल के महत्व के बारे में विस्तारपूर्वक समझाया गया.

बाला पेंटिग के तहत पेंटिंग के माध्यम से दीवारों पर शैक्षिक जानकारी दी जाती है, इसके जरिए फाउंडेशन ने बच्चों को शिक्षित करने की कोशिश की है.