Bharat Express

कनाडा में भारत के खिलाफ रची जा रही साजिश!, खालिस्तानियों के साथ मणिपुर के आदिवासी संगठन ने की मुलाकात

भारत और कनाडा के बीच चल रही तनातनी के बीच खालिस्तानी अलगाववादियों और नॉर्थ अमेरिकन मणिपुर ट्राइबल एसोसिएशन (NAMTA) के बीच सर्रे के एक गुरुद्वारे में बैठक हुई.

कनाडा में भारत के खिलाफ रची जा रही साजिश?

भारत और कनाडा के बीच चल रही तनातनी के बीच खालिस्तानी अलगाववादियों और नॉर्थ अमेरिकन मणिपुर ट्राइबल एसोसिएशन (NAMTA) के बीच सर्रे के एक गुरुद्वारे में बैठक हुई. जिसको लेकर भारतीय सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं. सुरक्षा एजेंसियां लगातार NAMTA और खालिस्तानियों की हर हरकत पर नजर बनाए हुए हैं. सर्रे गुरुद्वारे पर खालिस्तानियों का नियंत्रण है.

गुरुद्वारे में हुई बैठक

NAMTA के कनाडा अध्यक्ष लियान गैंगटे को पिछले महीने कनाडा के सर्रे में गुरुद्वारे में भारत में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के विषय पर बोलने की परमिशन दी गई थी. सर्रे में ही खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर गुरुद्वारे से भारत विरोधी गतिविधियों को संचालित कर रहा था. निज्जर की कुछ दिन पहले अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. जिसके बाद कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रुडो ने हाउस ऑफ कॉमंस में कहा था कि इस हत्या में भारत की सुरक्षा एजेंसियों की संलिप्तता है. जिसे भारत ने बेबुनियाद और राजनीति से प्रेरित बयान करार दिया था.

बैठक के बाद जारी हुआ खुफिया नोट

एक खुफिया नोट में कहा गया है कि NAMTA पदाधिकारियों और गुरुद्वारे के प्रबंधन मामले का संचालन करने वाले निज्जर के सहयोगियों के बीच बैठक हुई है. NAMTA ने इस बैठक को लेकर X पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि कनाडा के NAMTA के कनाडा अध्यक्ष लियान गैंगटे सर्रे स्थित गुरुद्वारा पहुंचे. सिख समुदाय को भारत के मणिपुर में हमारे कुकी जोमी समुदाय के साथ खड़े होने के लिए धन्यवाद.

यह भी पढ़ें- Punjab News: पंजाब पुलिस का बड़ा एक्शन, छापेमारी के बाद कांग्रेस विधायक सुखपाल खैरा को किया गिरफ्तार, जानिए पूरा मामला

भारत की सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट

इस मुलाकात के बाद भारत की सुरक्षा एजंसियां पूरी तरह से अलर्ट हो गई हैं. जिसके बाद से उन लोगों पर नजर बनाए हुए हैं,जो गठबंधन बनाने की कोशिश कर रहे हैं. भारत की खुफिया एजेंसियों को शक है कि सिख फॉर जस्टिस ने खालिस्तान को लेकर जनमत संग्रह पर समर्थन के लिए पाकिस्तान के सहयोगी चीन से अपील की है. माना जाता है कि सिख फॉर जस्टिस पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI का कंट्रोल है. ये उसी के इशारे पर भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देता है.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read