Bharat Express

Congress इस लोकसभा चुनाव में क्यों कम सीटों पर लड़ रही है, कांग्रेस अध्यक्ष Mallikarjun Kharge ने बताई वजह

इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पहले की तुलना में कम सीटों पर चुनाव लड़ रही है. इसे लेकर पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने स्थिति साफ की है.

मल्लिकार्जुन खड़गे.

लोकसभा चुनाव के पांच चरणों मतदान हो चुके हैं. लोकतंत्र का यह महापर्व धीरे-धीरे अपने समापन की ओर बढ़ रहा है. इस बीच इस बात पर चर्चा हो रही है कि इन चुनावों में कांग्रेस पार्टी पहले की तुलना में कम सीटों पर क्यों चुनाव लड़ रही है. इस पर पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़ने ने एक इं​टरव्यू में प्रकाश डाला है.

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि पार्टी ने विपक्ष के इंडिया गठबंधन (INDIA Alliance) को एकजुट रखने और BJP को हराने की रणनीति के तहत जान-बूझकर इस लोकसभा चुनाव में कम सीटों पर चुनाव लड़ा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि यह पार्टी की ओर से ‘अविश्वास’ को प्रदर्शित नहीं करता है, क्योंकि ‘देश के विभिन्न हिस्सों में ताकत रखने वाली अन्य पार्टियों को जगह देते हुए एकजुट विपक्ष की जीत सुनिश्चित करने के लिए समझौता किया गया था’.

सोच-समझकर लिया फैसला

उन्होंने कहा, ‘हमने कम सीटों पर चुनाव लड़ने का सोच-समझकर फैसला किया है. गठबंधन सहयोगियों को एकजुट रखने के लिए ऐसा किया जा रहा है और इसीलिए हमने यह समझौता किया है.’

खड़गे ने कहा कि कांग्रेस ने अन्य समान विचारधारा वाले दलों के साथ परामर्श करने के बाद हर राज्य में गठबंधन बनाने के लिए एक समिति बनाई है. उन्होंने कहा, ‘पार्टी आलाकमान ने इस रणनीति को मंजूरी दे दी है. हमने हर राज्य में विचार-विमर्श किया है.’

कांग्रेस 328 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जो अब तक की सबसे कम है और इंडिया गठबंधन में अन्य विपक्षी दलों के लिए 200 से अधिक सीटें छोड़ रही है.


ये भी पढ़ें: सीएम योगी व स्मृति ईरानी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पत्रकार पर दर्ज हुआ केस, जानें क्या है मामला


एक-दूसरे के खिलाफ क्यों लड़ रहे

केरल, बंगाल और पंजाब जैसे राज्यों में कई गठबंधन सहयोगियों के एक-दूसरे के खिलाफ लड़ने पर उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार के खिलाफ लड़ने में कोई मतभेद नहीं है. राज्यों में हम लड़ रहे हैं, क्योंकि इंडिया गठबंधन में शामिल दोनों पार्टियां प्रमुख हैं, अन्यथा इससे बीजेपी को फायदा होगा.’

कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि हर राज्य में एक अलग गठबंधन है, ‘लेकिन हम सभी भाजपा और मोदी जी की विचारधारा के खिलाफ लड़ रहे हैं. पार्टियों ने एक सुविचारित लाइन अपनाई है जो राष्ट्र के हित में है.’

इस सवाल पर कि राहुल गांधी, अखिलेश यादव और अरविंद केजरीवाल जैसे विपक्षी नेता एनडीए संख्या की भविष्यवाणी करने में एकमत नहीं हैं, उन्होंने कहा कि हर नेता का अलग-अलग आकलन होता है.

उन्होंने कहा, ‘मैं कर्नाटक में उचित आकलन कर सकता हूं, क्योंकि मैं राज्य को अच्छी तरह से जानता हूं और सब कुछ जानता हूं. विभिन्न राज्यों से अलग-अलग प्रतिक्रिया आती है, लेकिन जैसा कि मैंने कहा है, भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए आवश्यक संख्याएं हमारे पास हैं. वे संख्याएं और हम भाजपा को सत्ता संभालने से रोक देंगे.’

प्रियंका का फैसला उचित

खड़गे ने प्रियंका गांधी वाड्रा को ‘महत्वपूर्ण’ बताया और चुनाव नहीं लड़ने के उनके फैसले को उचित ठहराया. उन्होंने कहा कि यह सोनिया गांधी, राहुल गांधी और उनका लिया हुआ फैसला था. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी 30 साल से राजनीति में हैं और वह जानती हैं कि किसे कहां से चुनाव लड़ना चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी के साथ वह (प्रियंका) भी हमारी स्टार प्रचारक हैं, क्योंकि सोनिया गांधी जी का स्वास्थ्य बहुत अच्छा नहीं है. उनकी मांग है और हजारों लोग उन्हें सुनने आते हैं.’

यह पूछे जाने पर कि अगर राहुल गांधी वायनाड और रायबरेली दोनों जीतते हैं तो उन्हें कौन सी सीट छोड़नी चाहिए, इस पर उन्होंने कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत पसंद है.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read

Latest