Ayodhya: राम मंदिर उद्घाटन के दौरान स्मार्टफोन का उपयोग नहीं कर सकेंगे पुलिसकर्मी, दिए गए ये जरूरी निर्देश

Ramlala Pran Pratishtha: अधिकतर देखा जाता है कि, फील्ड ड्यूटी के दौरान पुलिसकर्मी स्मार्टफोन का अत्यधिक प्रयोग करते हैं, जिससे वे एकाग्रचित होकर पूरी सतर्कता से ड्यूटी नहीं करते.

अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण करते पुलिस अधिकारी

Ramlala Pran Pratishtha: भगवान राम की नगरी अयोध्या में 22 जनवरी को मंदिर उद्घाटन और रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर तैयारी के बीच बड़ी खबर सामने आ रही है. जिले में 22 और 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) को देखते हुए सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त किया जा रहा है. इन खास अवसरों पर किसी तरह की चूक न हो, इसके लिए हर स्तर पर पूरी सतर्कता बरती जा रही है. कार्यक्रमों की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिसकर्मियों के ड्यूटी के दौरान स्मार्टफोन के उपयोग पर रोक लगा दी गई है. इसी के साथ ये भी कहा गया है कि, बहुत जरूरी होने पर ही फोन पर बात करें.

इस सम्बंध में डीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार की ओर से एक आदेश जारी किया गया है. दरअसल अधिकतर देखा जाता है कि फील्ड ड्यूटी के दौरान पुलिसकर्मी स्मार्टफोन का अत्यधिक प्रयोग करते हैं, जिससे वे एकाग्रचित होकर पूरी सतर्कता से ड्यूटी नहीं करते. इसीलिए 22 जनवरी और 26 जनवरी की संवेदनशीलता को देखते हुए ये निर्देश जारी किया गया है ताकि, कार्यक्रम के दौरान पुलिसकर्मियों से कोई लापरवाही न हो. इसीलिए स्मार्टफोन के उपयोग पर रोक लगा दी गई है.

ram mandir

ये भी पढ़ें- श्रीराम की भूमि पर भव्य मंदिर बनना चाहिए और हिंदुओं को सौंप देना चाहिए, ये भाजपा ने 1989 में प्रस्ताव पारित करके कहा था: नड्डा

जरूरी हो तभी करें फोन

इसी के साथ ही डीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार की ओर से जारी आदेश में सभी पुलिस कमिश्नर, एसएसपी व एसपी को इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया है. इसी के साथ ही आदेश में ये भी कहा गया है कि जब बेहर जरूरी हो. तभी फोन का इस्तेमाल करें और बात करें. इसके अलावा ये कहा गया है कि, 22 जनवरी को अयोध्या और 26 जनवरी को पुलिसकर्मियों को संवेदनशील व महत्वपूर्ण स्थलों पर सुरक्षा ड्यूटी में तैनात किया जाएगा. ऐसी ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को विधिवत निर्देश दें कि ड्यूटी के दौरान अनावश्यक रूप से स्मार्टफोन का उपयोग कतई न करें.

Ram Mandir

पीएम मोदी के हाथों होगा धार्मिक अनुष्ठान

बता दें कि 22 जनवरी को राम मंदिर उद्घाटन और प्राण-प्रतिष्ठा के दौरान होने वाले सभी धार्मिक अनुष्ठान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होगा. इस मौके पर देश भर के सैकड़ों वीवीआईपी, साधु-संत और महंत हिस्सा लेंगे. बड़ी संख्या में राम भक्तों के मंदिर पहुंचेंगे. 16 जनवरी से ही मंदिर प्रांगण में प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर विधिवत कार्यक्रम शुरू हो जाएंगे. इसी के साथ ही कार्यक्रम की सुरक्षा के लिए खास बंदोबस्त किए जा रहे हैं. सीसीटीवी और ड्रोन से कार्यक्रम पर पूरी नजर रखी जाएगी. बता दें कि एडीजी, लखनऊ जोन पियूष मोर्डिया द्वारा जनपद अयोध्या में श्री राम तीर्थ क्षेत्र स्थित कार सेवक पुरम् व छोटी छावनी श्री राम धर्म मण्डपम् का लगातार भ्रमण किया जा रहा है. इस दौरान पुलिस बल के ठहरने की व्यवस्था, पार्किग , सीसीटीवी कैमरे लगवाने को लेकर जरूरी दिशा निर्देश भी दिये गये.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read