Election Results: भारी मतों से राजकुमारी दीया कुमारी की हुई जीत, राजसमंद से हैं सांसद

Election Results: बीजेपी में विगत वर्षों में दीया कुमारी का तेजी से उभार हुआ है. शिक्षा और महिला सशक्तीकरण को लेकर भी दीया कुमारी के प्रयासों की सराहना हो चुकी है.

राजकुमारी दीया कुमारी

Election Results: राजस्थान चुनावों के रुझानों में बीजेपी को बहुमत मिलता हुआ दिख रहा है. वहीं बीजेपी के कई प्रमुख चेहरों ने भी अपनी सीटों से जीत दर्ज की है. शाही घराने से ताल्लुक रखने वाली राजकुमारी और भाजपा सांसद दीया कुमारी ने जयपुर की विद्याधर नगर सीट से चुनाव लड़ा था. वहीं अब इस सीट का परिणाम आ चुका है और दीया कुमारी ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी को भारी मतों से हराया है. बता दें कि कांग्रेस ने दिया कुमारी के खिलाफ मैदान में सीताराम अग्रवाल मैदान में उतारा था.

71368 वोटों से हुईं विजयी

दीया कुमारी को कुल 158516 वोट मिले हैं. वहीं कांग्रेस के सीताराम को 87148 वोटों से संतोष करना पड़ा. ऐसे में दीया कुमारी 71368 वोटों से चुनाव जीत चुकी हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दीया कुमारी जयपुर के हवामहल सीट से चुनाव लड़ना चाह रही थीं.

वर्तमान में दीया कुमारी राजस्थान बीजेपी में महिला मोर्चे की प्रदेश प्रभारी हैं. खुद के एनजीओ के अलावा दीया कुमारी स्कूल और होटल व्यवसाय से भी जुड़ी हैं. राजस्थान की मुख्यमंत्री के तौर पर भी उन्हें देखा जा रहा है. आज सुबह ही दीया कुमारी ने प्रसिद्ध गोविंद देवजी मंदिर में पूजा भी की है.

वह राजसमंद से सांसद है. वहीं भाजपा ने उन्हें जयपुर शहर की विद्याधरनगर विधानसभा क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया था. दीया कुमारी जयपुर के महाराजा रहे सवाई मानसिंह के खानदान से हैं. वे सवाई मानसिंह और उनकी पहली पत्नी मरुधर कंवर के बेटे भवानी सिंह और पद्मिनी देवी की इकलौती संतान हैं. राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे जहां एक राजपरिवार से संबंध रखती हैं वहीं, दीया कुमारी का भी राजपरिवार से जुड़ा होना उन्हें चर्चा में लाता है. बीजेपी में उन्हें वसुंधरा राजे के विकल्प के रूप में भी देखा जा रहा है.

2013 में भी लड़ चुकी हैं विधानसभा चुनाव

वसुंधरा राजे ने ही दीया कुमारी को साल 2013 के विधानसभा चुनाव में उतारा था. जिसमें उन्होंने जीत हासिल की थी. उन्हें राज्य के सवाई माधोपुर से बीजेपी प्रत्याशी बनाया गया था. माना जा रहा है कि भाजपा ने राजस्थान में उनपर भरोसा जताते हुए और किसी खास रणनीति के तहत मैदान में उतारा है. बीजेपी में विगत वर्षों में उनका तेजी से उभार हुआ है. शिक्षा और महिला सशक्तीकरण को लेकर भी दीया कुमारी के प्रयासों की सराहना हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें: Election Results: तेलंगाना के रुझानों में कांग्रेस बहुमत के पार, जानें बीजेपी को कितना फायदा

विदेश से उच्च शिक्षा

दीया कुमारी की उच्च शिक्षा लंदन से हुई है. वहीं उनकी प्रारंभिक शिक्षा महारानी गायत्री देवी गर्ल्स पब्लिक स्कूल और नई दिल्ली के मॉडर्न स्कूल से हुई है. दीया कुमारी की शादी सिवाड़ के कोठड़ा ठिकाने के नरेंद्र सिंह राजावत से हुई है. दोनों ने अगस्त 1994 में गोपनीय ढंग से कोर्ट मैरिज की थी. लगभग दो साल बाद उनकी शादी के बारे में प रिवार वालों को जानकारी हुई थी. बताया जाता है कि दोनों का गोत्र एक ही होने के कारण उन्हें ऐसा करना पड़ा. लेकिन साल 2019 में दोनों अलग हो गए. दो बेटे और एक बेटी है. बेटों का नाम पद्मनाथ सिंह व लक्ष्यराज सिंह जबकि बेटी का नाम गौरवी है.

Bharat Express Live

Also Read