दिल्ली में धारा 144, हरियाणा में 2 अस्थाई जेलें, केंद्रीय बलों की 64 कंपनियां तैनात, किसानों के कूच से पहले प्रशासन चौकस

Punjab Farmer Protest Update: पंजाब के किसानों से दिल्ली कूच से पहले एक प्रशासन पूरी तरह चौकस है. इस बार प्रशासन किसानों को रोकने के लिए पूरी तैयारी करके बैठा है.

Punjab Farmer Protest Update

इस तरह से सभी बाॅर्डर किए गए हैं सील.

Punjab Farmer Protest Update: पंजाब के किसानों के दिल्ली कूच को देखते हुए दिल्ली में धारा 144 लगा दी गई है. दिल्ली पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा ने आदेश जारी किए हैं. दिल्ली में धारा 144 12 फरवरी से 13 मार्च तक लागू रहेगी. इस दौरान भीड़ जुटने, रैली करने पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा.

किसानों के अलावा दिल्ली में ट्रैक्टरों के प्रवेश पर भी पूर्णतया प्रतिबंध लगा दिया गया है. वहीं लाउड स्पीकरों के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है. वहीं कल किसानों के दिल्ली कूच से पहले एमएसपी गारंटी कानून से पहले चंडीगढ़ में शाम को 5 बजे केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक होगी. जिसमें पीयुष गोयल, अर्जुन मुंडा और नित्यानंद राय शामिल होंगे.

सभी बाॅर्डर को एक ही तरीके से बंद किया गया

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए पंजाब, हरियाणा के शंभू, खनौरी समेत सभी बाॅर्डर सीमेंट के स्लैब, कंटीली तारों, कीलों से खुदाई कर सील किए जा चुके हैं. वहीं पिछली बार आंदोलन का केंद्र रहे सिंघु और टिकरी बाॅर्डर को भी सीमेंट की बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिए गए हैं.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र के पूर्व CM अशोक चव्हाण से कांग्रेस से इस्तीफा दिया, समर्थक विधायकों के साथ BJP में होंगे शामिल

हरियाणा में अस्थाई जेलें बनाई

हरियाणा में हालात संभालने के लिए केंद्र ने केंद्रीय सुरक्षा बलों की 64 कंपनियां भेजी हैं. भारतीय किसान युनियन उगराहां गुट के नेता जोगिंदर सिंह और हरिंदर सिंह ने 16 फरवरी को भारत बंद का ऐलान किया है. वहीं हरियाणा में प्रदर्शनकारी किसानों को रोकने के लिए सिरसा और डबवाली के स्टेडियम में अस्थाई जेलें बनाई गई हैं. वहीं सिंघु और टिकरी बाॅर्डर पर आज से आवाजाही बंद हो जाएगी. इस दौरान सभी बसें केएमपी से जाएंगी.

यह भी पढ़ेंः हल्द्वानी की जिस जमीन पर था अतिक्रमण वह नजूल की जमीन, जानें कौन होता है इसका मालिक

Bharat Express Live

Also Read