Bharat Express

‘संसद में नेता प्रतिपक्ष बनाए जाएं राहुल गांधी’, CWC की बैठक में एक सुर में उठी मांग

Leader of Opposition: कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा​ कि कांग्रेस कार्य समिति ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी से लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद स्वीकार करने का अनुरोध किया है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी. (फोटो: IANS)

Leader of Opposition: कांग्रेस कार्य समिति (Congress Working Committee/CWC) की बैठक शनिवार को हुई, जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पार्टी संसदीय दल की प्रमुख सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल सहित कई अन्य नेता शामिल हुए. बैठक में इंडिया गठबंधन के सभी नवनिर्वाचित संसद सदस्य भी मौजूद थे.

इस चुनाव में कांग्रेस ने पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में अच्छा प्रदर्शन किया है, जिसका उत्साह पार्टी के सभी नेताओं के चेहरे पर साफ देखने को मिला कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में आगे की रूपरेखा तैयार की गई. बैठक में एक सुर में मांग की गई है कि राहुल गांधी को लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाया जाए.

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘इस बात में कोई संशय नहीं है कि कांग्रेस ने कई राज्यों में प्रशंसनीय प्रदर्शन किया है, लेकिन इस बात को भी सिरे से खारिज नहीं किया जा सकता कि जिन राज्यों में पार्टी ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है, वहां हमें आत्मचिंतन करना होगा.’

चुनाव में कांग्रेस का बेहतर प्रदर्शन

दरअसल, इस बार लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद इंडिया गठबंधन सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के तौर पर उभरकर सामने आई है. ऐसे में आधिकारिक तौर पर भी कांग्रेस से किसी को नेता प्रतिपक्ष का दर्जा मिल जाएगा. जानकारी रहे कि इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने कुल 99 सीटें जीती हैं. संसदीय कार्यप्रणाली के मुताबिक, नेता प्रतिपक्ष का दर्जा हासिल करने के लिए विपक्ष को कुल सीटों का 10 फीसदी यानी 55 सीटें होना अनिवार्य है.

प्रस्ताव पारित किया गया

कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा, ‘कांग्रेस कार्य समिति ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी से लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद स्वीकार करने का अनुरोध किया. उन्होंने जवाब दिया कि वह इस बारे में सोचेंगे.’

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा, ‘हर बार चुनाव के बाद हमारी कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक होती है और स्थिति का विश्लेषण किया जाता है. राहुल गांधी का यह 5वां कार्यकाल है. वह एक वरिष्ठ नेता हैं. वह सामने से हमला करते हैं और समझदारी से करते हैं. वो इसे आत्मविश्वास और निडरता के साथ करते हैं. उन्हें संसदीय दल का नेता होना चाहिए.’


ये भी पढ़ें: Sonia Gandhi सर्वसम्मति से Congress संसदीय दल की अध्यक्ष चुनी गईं


पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वारिंग ने कहा, ‘हमारी मांग रही है कि राहुल गांधी आगे आएं और सब कुछ संभालें, लेकिन अंतिम फैसला शीर्ष नेतृत्व का है. राहुल गांधी को खुद फैसला करना है. पीएम को शपथ नहीं लेनी चाहिए. वह ‘400 पार’ के बारे में बात कर रहे थे. अगर मैं उनकी जगह पर होता, तो शायद शपथ नहीं लेता.’

शैलजा, हुड्डा और गोगोई ने समर्थन किया

CWC की बैठक के बाद कांग्रेस सांसद कुमारी शैलजा ने कहा, ‘सीडब्ल्यूसी की इच्छा है कि राहुल गांधी को नेता प्रतिपक्ष चुना जाए.’ वरिष्ठ कांग्रेस नेता और अलपुझा से नवनिर्वाचित सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा, ‘सीडब्ल्यूसी ने सर्वसम्मति से राहुल गांधी जी से लोकसभा में विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी संभालने का अनुरोध किया.’

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद भूपेंदर सिंह हुड्डा ने कहा, ‘राहुल गांधी को नेता प्रतिपक्ष बनाना चाहिए. यही सबकी मांग है और यही कांग्रेस को मजबूती देगी.’

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने कहा, ‘जब भी कांग्रेस पार्टी ने राहुल गांधी से कुछ अपेक्षा की है, उन्होंने पार्टी की ख्वाहिश पूरी की है। आज कांग्रेस पार्टी उनसे गुजारिश करती है कि वो देश की आवाज सदन में उठाएं.’

क्या बोले शशि थरूर

राहुल गांधी नेता प्रतिपक्ष बनाने को सवाल पूछे जाने पर केरल के तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से विजयी उम्मीदवार शशि थरूर ने कहा कि उन्हें (राहुल गांधी) को यह जिम्मेदारी स्वीकार करनी चाहिए.

CWC की बैठक के बाद कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा, ‘निश्चित रूप से उन्हें (राहुल गांधी) (लोकसभा में विपक्ष का नेता) बनना चाहिए. यह हमारी कार्यसमिति का अनुरोध था. वह निडर और साहसी हैं.’

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read