Bharat Express

Sonia Gandhi सर्वसम्मति से Congress संसदीय दल की अध्यक्ष चुनी गईं

इससे पहले कांग्रेस कार्य समिति (CWC) ने सर्वसम्मति से Rahul Gandhi से लोकसभा में विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी संभालने का आग्रह किया है.

नई दिल्ली में 8 जून 2024 को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के दौरान अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पार्टी नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और केसी वेणुगोपाल. (फोटो: IANS)

सोनिया गांधी फिर से कांग्रेस संसदीय दल (Congress Parliamentary Party/CPP) की अध्यक्ष चुनी गई हैं. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि यह बड़ी बात है कि हमारी नेता फिर से सीपीपी अध्यक्ष बनी हैं, वे हमारा मार्गदर्शन करेंगी.

पार्टी सांसदों की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने संसदीय दल के अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी का नाम प्रस्तावित किया. इस प्रस्ताव का गौरव गोगोई, के. सुधाकरन और तारिक अनवर ने समर्थन किया. 77 वर्षीय सोनिया गांधी फरवरी में राज्यसभा के लिए चुनी गई थीं.

इस दौरान खड़गे ने कहा, ‘इससे बेहतर क्या हो सकता है. जो इंसान पार्टी के लिए अपनी सारी खुशियां छोड़कर पार्टी की सेवा कर रही हैं, मैं उनको सैल्यूट करता हूं. उन्होंने अपनी तकलीफ को पीछे रखकर देश के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी.’

पीएम के शपथ ग्रहण समारोह के बारे में कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल का कहना है, ‘जब हमें न्योता ही नहीं मिला तो हमें क्या पता कि फॉरेन से कौन से अतिथि आ रहे हैं. हमें तो सिर्फ मीडिया से पता चल रहा है। हमें कोई इनविटेशन नहीं दिया गया है.’

सोनिया के दोबारा सीपीपी चुने जाने के मौके पर कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने कहा, ‘सोनिया गांधी के फिर से कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष चुने जाना हमारे लिए एक भावुक पल था.’

बड़ी जिम्मेदारी ​डाल दी गई: सोनिया गांधी

इस मौके पर सोनिया गांधी ने कहा, ‘आप सभी ने एक बार फिर मुझ पर जो बड़ी जिम्मेदारी डाली है, उसके प्रति मैं गहराई से सचेत हूं. सबसे पहले मैं सभी नवनिर्वाचित लोकसभा सांसदों का अभिनंदन करती हूं. आपने सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में कठिन चुनाव लड़ा है. आपने कई बाधाओं को पार किया है और बहुत प्रभावी ढंग से अभियान चलाया है. आपकी सफलता ने हमें लोकसभा में अधिक उपस्थिति और इसकी कार्यवाही में अधिक प्रभावी आवाज प्रदान की है, ये दोनों हमारी भागीदारी को अधिक ताकत देने में मदद करेंगे.’


ये भी पढ़ें: ‘संसद में नेता प्रतिपक्ष बनाए जाएं राहुल गांधी’, CWC की बैठक में चिंतन-मंथन का दौर शुरू


सोनिया ने कहा कि कई लोगों ने तो कह दिया था कि हम खत्म हो जाएंगे, लेकिन खड़गे जी के दृढ़ नेतृत्व में हम टिके रहे। वह हम सभी के लिए प्रेरणा हैं. उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा और भारत जोड़ो न्याय यात्रा वास्तव में ऐतिहासिक आंदोलन थे, जिन्होंने हमारी पार्टी को पुनर्जीवित किया. अभूतपूर्व व्यक्तिगत और राजनीतिक हमलों के बावजूद लड़ने की अपनी दृढ़ता और दृढ़ संकल्प के लिए राहुल विशेष धन्यवाद के पात्र हैं.

लोकसभा में विपक्ष के नेता

इससे पहले कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) ने सर्वसम्मति से राहुल गांधी से लोकसभा में विपक्ष के नेता की जिम्मेदारी संभालने का आग्रह किया. इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने कुल 99 सीटें जीती हैं. संसदीय कार्यप्रणाली के मुताबिक, नेता प्रतिपक्ष का दर्जा हासिल करने के लिए विपक्ष को कुल सीटों का 10 फीसदी यानी 55 सीटें होना अनिवार्य है.

राष्ट्रीय राजधानी में संसद के सेंट्रल हॉल में कांग्रेस संसदीय दल (सीपीपी) की बैठक हुई, जिसमें यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पार्टी प्रमुख मल्लिकार्जुन खड़गे और महासचिव केसी वेणुगोपाल समेत कई प्रमुख कांग्रेस नेता बैठक में मौजूद हैं. कार्ति चिदंबरम, राजीव शुक्ला, रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और शशि थरूर समेत कई अन्य नेता भी कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में मौजूद थे.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read