डायबिटीज के मरीज गेहूं की जगह खाएं इस आटे की रोटी, शरीर में दिखेंगे ये बदलाव

Roti For Diabetic Patient: आजकल खराब खान-पान के चलते कई गंभीर समस्या है जिससे अधिकतर लोग पीड़ित हैं. आज हम आपको एक ऐसे आटे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे बनी रोटियों का सेवन करने से ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है.

Roti For Diabetic Patient

Roti For Diabetic Patient

Roti For Diabetic Patient: आजकल खराब खान-पान के चलते कई गंभीर समस्या है जिससे अधिकतर लोग पीड़ित हैं. दुनिया में भारत डायबिटीज मरीजों की गिनती में टॉप देशों में शामिल है. यह बीमारी बुजुर्गों से लेकर बच्चों को तेजी से अपनी चपेट में ले रही है. इस बीमारी में पैंक्रियाज पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पता है, जिसकी वजह से ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित तरीके से बढ़ने लगता है.

अगर समय रहते डायबटीज को कंट्रोल न किया जाए, तो यह बीमारी शरीर के सभी महत्वपूर्ण अंगों को डैमेज कर सकती है. डायबिटीज के मरीजों को अपने आहार पर विशेष ध्यान देना चाहिए. अपनी डाइट में कुछ जरूरी बदलाव करके आप ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं. आज हम आपको एक ऐसे आटे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे बनी रोटियों का सेवन करने से ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है. तो आइए, जानते हैं इसके बारे में-

नारियल का आटा बेहद असरदार

नारियल का आटा ग्लूटेन फ्री आटा है, जो सूखे नारियल को पीसकर बनाया जाता है. इसमें गेहूं के आटे की तुलना में अधिक कैलोरी, प्रोटीन, फैट, फाइबर और आयरन व और पोटेशियम जैसे मिनरल्स पाए जाते हैं. यह हेल्दी तरीके से वजन बढ़ाने के साथ-साथ सूजन कम करने और मेटाबोलिज्म बढ़ाने में भी सहायक है. यह आटा एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और इसमें एंटीमाइक्रोबियल गुण भी पाए जाते हैं.

रागी आटा

रागी को सुपरफूड कहा जाता है क्योंकि यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है. यह फाइबर से भरपूर होता है इसलिए डायबिटीज मरीजों को इसका सेवन करना चाहिए. इससे हमारे शरीर में इंसुलिन का उत्पादन बढ़ता है और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है. डायबिटीज के मरीज रागी के आटे से बनी रोटियों का सेवन कर सकते हैं.hea

बाजरा का आटा

डायबिटीज के मरीजों के लिए बाजरे के आटे से बनी रोटियों का सेवन करना बेहद फायदेमंद हो सकता है क्योंकि बाजरे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स काफी कम होता है. इससे शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है. साथ ही यह वेट मैनेजमेंट में भी काफी मदद करता है.

ज्वार

ज्वार में काफी मात्रा में फाइबर होता है. इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है जो शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है. यह एक मोटा अनाज है जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. डायबिटीज के मरीजों को ज्वार के आटे से बनी रोटियों का सेवन करना चाहिए. इससे मरीजों को शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है.

Bharat Express Live

Also Read