WFI Controversy: यौन उत्पीड़न के आरोपों में कोई समझौता नहीं- योगेश्वर दत्त ने बताया कमेटी कब तक सौंपेगी रिपोर्ट

Brij Bhushan Sharan Singh Case: जांच कमेटी के सदस्य और पहलवान योगेश्वर दत्त ने बताया कि,” किसी भी मुद्दे को बातचीत से सुलझाया जा सकता है, मगर यौन उत्पीड़न के मामले में कोई बीच का रास्ता नहीं निकाला जा सकता”.

yogeshwer dutt

जांच कमेटी के सदस्य और पहलवान योगेश्वर दत्त (फोटो ANI)

WFI Controversy: बीजेपी सांसद और भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh)  पर लगे यौन उत्पीड़न और डराने-धमकाने के आरोपों की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है. वहीं पहलवान खिलाड़ियों में इसको को लेकर काफी गुस्सा है उन्होंने तीन दिनों तक जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया और सांसद बृजभूषण के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं. वहीं अब जांच कमेटी के सदस्य और पहलवान योगेश्वर दत्त ने शनिवार को न्यूज एजेंसी (ANI) से बात करते हुए कहा कि मामले की जांच गंभीरता से की जाएगी.

बृजभूषण सिंह पर लगे गंभीर आरोपों की कमेटी जांच रही है. वहीं जांच समिति की तरफ से अपनी रिपोर्ट सौंपने तक उनको अपना पद छोड़ने के लिए कहा गया है. वहीं केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने खिलाड़ियों को आश्वासन दिया है कि चार सप्ताह में न्याय होगा.

‘यौन उत्पीड़न के मामले में कोई बीच का कोई रास्ता नहीं’

कमेटी के सदस्य योगेश्वर दत्त ने जांच को लेकर कहा कि,”किसी भी मुद्दे को बातचीत से सुलझाया जा सकता है, मगर यौन उत्पीड़न के मामले में कोई बीच का रास्ता नहीं निकाला जा सकता. उन्होंने आगे कहा, “जो भी दोषी होंगे उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. अगर आरोप झूठे निकलते हैं तो ये पता किया जाएगा कि ये क्यों लगाए हैं और इन्हें लगाने का क्या मकसद है?”

योगेश्वर दत्त ने बताया कि जांच कमेटी दोनों पक्षों को सुनने के बाद 8 से 10 दिन में एक रिपोर्ट बना लेगी. उन्होंने कहा कि हम स्पोर्ट्स मिनिस्ट्री और होम मिनिस्ट्री के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी जांच रिपोर्ट भेजेंगे.

‘खिलाड़ियों ने भारतीय कुश्ती संघ पर गंभीर लगाए आरोप’

केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने पहलवानों से बातचीत के बाद कहा कि,”सभी खिलाड़ियों ने भारतीय कुश्ती संघ पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि जांच पूरी होने तक एक कमेटी दैनिक कार्यकलाप को देखेगी. तब तक भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह अपने आप को दैनिक कार्यकलाप से अलग रखेंगे और जांच में सहयोग करेंगे.

ये भी पढ़ें-     Brij Bhushan Sharan: यौन उत्पीड़न के आरोपों के बीच गोंडा में कुश्ती टूर्नामेंट के ‘चीफ गेस्‍ट’ बने बृजभूषण, अधिकारियों ने किया स्वागत, खिलाड़ी कर रहे इस्तीफे की मांग

वहीं खिलाड़ियों ने इसके विरोध में जंतर-मंतर पर तीनों दिनों तक धरना प्रदर्शन किया. विनेश फोगाट, बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक सहित देश के कई प्रमुख पहलवान प्रदर्शन में शामिल रहे. वहीं पहलवान बजरंग पुनिया ने तो यह भी कहा कि हम सब अपना करियर दांव पर लगाकर आए हैं.

– भारत एक्सप्रेस

 

Bharat Express Live

Also Read