AAP vs LG: बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना.. ये एलजी कौन है जो हमारे सिर पर आकर बैठ गया?- विधानसभा में केजरीवाल का बड़ा हमला

Arvind Kejriwal: सीएम केजरीवाल ने शिक्षकों को विदेश (फिनलैंड) भेजने के मामले में उपराज्यपाल को जमकर भड़ास निकाली. उन्होंने कहा कि दिल्‍ली में रहने वाले 2 करोड़ लोग हमारे परिवार हैं. इन परिवारों में रहने वाले बच्‍चों को मैं अपना बच्‍चा मानता हूं.

Arvind Kejriwal

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फोटो ट्विटर)

Arvind Kejriwal on LG: दिल्ली विधानसभा सत्र के दूसरे दिन चर्चा के दौरान जमकर हंगामा हुआ. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सदन में अपने भाषण के दौरान उपराज्यपाल वी के सक्सेना पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जितनी अच्छी शिक्षा मैंने अपने बच्चों को (हर्षिता और पुलकित) को दी है उतनी अच्छी शिक्षा मैं दिल्ली के हर बच्चे को देना चाहता हूं. सदन में केजरीवाल ने कहा, “मेरे मास्टर ने मेरा होमवर्क ऐसे चेक नहीं किया, जैसे एलजी (LG) साहब फाइल चेक करते हैं. मैं चुना हुआ मुख्यमंत्री हूं, दिल्ली के दो करोड़ लोगों ने मुझे चुन कर भेजा है. आप कौन हैं?

सीएम केजरीवाल ने शिक्षकों को विदेश (फिनलैंड) भेजने के मामले में उपराज्यपाल पर जमकर भड़ास निकाली. उन्होंने कहा कि दिल्‍ली में रहने वाले 2 करोड़ लोग हमारे परिवार हैं. इन परिवारों में रहने वाले बच्‍चों को मैं अपना बच्‍चा मानता हूं. शिक्षा के स्‍तर को बढ़ने के लिए हमने स्‍कूलों के आधारभूत ढांचे को ठीक किया. हम शिक्षकों की क्षमता को बढ़ाने के लिए उन्‍हें विदेश में ट्रेनिंग के लिए भेजते रहे हैं.

‘सरकार को पावर नहीं तो आजादी की लड़ाई क्यों लड़ी’

अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल पर निशाना साधते हुए सदन में कहा कि,”अगर चुनी हुई सरकारों की कोई पावर ही नहीं तो आज़ादी की लड़ाई ही क्यों लड़ी गई थी ? इसलिए थोड़ी कि वायसराय (Viceroy) जाएगा और LG आ जाएगा. जनतंत्र को और देश की आज़ादी को बचाने के लिए जो कुर्बानी देनी होगी हम देंगे. केजरीवाल ने आगे कहा, ”दुर्भाग्य है कि BJP के साथी सदन में मौजूद नहीं हैं. ये चर्चा देश और दुनिया में हो रही है कि चुनी हुई सरकार की चलनी चाहिए या किसी एक व्यक्ति विशेष की चलना चाहिए”. उन्होंने कहा कि, “LG हमारी फाइल रोकते हैं. उनके पास कोई पावर नहीं है, उन्हें फैसले का अधिकार नहीं है. उपराज्यपाल का कोई तर्क समझ में नहीं आता है. वह बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना जैसी बातें करते हैं.”

‘आप ‘Cost-Benefit Analysis’ करा सकते हैं’ ?

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आगे निशाना साधते हुए कहा कि, ”मैंने पूछा किस कानून में लिखा है कि आप ‘Cost-Benefit Analysis’ करा सकते हैं ? कोई जवाब नहीं था मैंने फिर उनसे पूछा Aldermen कैसे Appoint किए ? कहते मैं Administrator हूं. मैंने 2019 SC Order दिखाया कि जहां Administrator लिखा है, वहां भी चुनी हुई सरकार की चलेगी.

केजरीवाल ने आगे पूछा- ये LG कौन है? जो हमारे सिर पर आकर बैठ गया. अब वो तय करेंगे कि बच्चों को कहां पढ़ाओ? “गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं लेने देंगे” वाला Mindset अभी भी है. ऐसी सामंतवादी सोच से देश पीछे है.

ये भी पढ़ें-   Abdul Rehman Makki: UNSC ने हाफिज सईद के रिश्तेदार अब्दुल रहमान मक्की को किया वैश्विक आतंकी घोषित, चीन ने लगाया था अड़ंगा

आज मेरी सरकार है, कल नहीं होगी

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि समय बड़ा बलवान होता है. कुछ भी परमानेंट नहीं है. आज मेरी सरकार है, कल नहीं होगी. आज केंद्र में उनकी सरकार है कल बदलेगी. कल भगवान ने चाहा तो केंद्र में हमारी सरकार होगी, दिल्ली में हमारे LG हों और दिल्ली में सरकार BJP या कांग्रेस की हो, लेकिन हमारा एलजी किसी को परेशान नहीं करेगा.

– भारत एक्सप्रेस

 

Bharat Express Live

Also Read