MP Elections Results: मध्यप्रदेश में जीती BJP, लेकिन शिवराज कैबिनेट के 12 कैबिनेट मंत्रियों की हुई हार, नरोत्तम मिश्रा का नाम भी शामिल

CM Shivraj Cabinet Ministers: शिवराज सरकार के जिन 12 कैबिनेट मंत्रियों की हार हुई है. उसमें सबसे बड़ा नाम प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा है. उनको दतिया सीट पर हार मिली है. 

Shivraj Cabinet Reshuffle

सीएम शिवराज सिंह चौहान (फोटो फाइल)

MP Elections Results: मध्यप्रदेश चुनाव में एक बार फिर बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई है. उसको दो तिहाई से ज्यादा बहुमत मिल गया है. पार्टी अभी तक 159 सीटे जीत चुकी है. वहीं कांग्रेस के खाते में मात्र 63 सीट पहुंची हैं. ऐसे में प्रदेश की जनता ने एक बार फिर बीजेपी पर भरोसा जताया है. लेकिन उन्होंने शिवराज सरकार के काम को कितना पसंद किया. इसका आंकलन करना थोड़ा मुश्किल है. क्योंकि प्रदेश में शिवराज कैबिनेट के कुल 12 मंत्रियों को हार का मुंह देखना पड़ा है.

शिवराज सरकार के जिन 12 कैबिनेट मंत्रियों की हार हुई है. उसमें सबसे बड़ा नाम प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा है. उनको दतिया सीट पर हार मिली है.

नरोत्तम मिश्रा के अलावा, शिवराज कैबिनेट के प्रमुख मंत्री हारे हैं. उनमें बमोरी से महेंद्र सिंह सिसौदिया, हरदा से कमल पटेल, अटेर से अरविंद सिंह भदौरिया, बड़वानी से प्रेम सिंह पटेल, बालाघाट से गौरीशंकर बिसेन, बदनावर से राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, अमरपाटन से रामखेलावन पटेल, ग्वालियर ग्रामीण से भारत सिंह कुशवाह, पोहरी से सुरेश धाकड़, पारसवाड़ा से राम किशारे नानो कांवरे और खरगापुर से राहुल सिंह लोधी शामिल हैं.

शिवराज कैबिनेट के हारे हुए मंत्रियों की लिस्ट

नरोत्तम मिश्रा

राहुल सिंह लोधी

राम किशारे नानो कांवरे

सुरेश धाकड़

भारत सिंह कुशवाह

रामखेलावन पटेल

राजवर्धन सिंह दत्तीगांव

गौरीशंकर बिसेन

प्रेम सिंह पटेल

अरविंद सिंह भदौरिया

कमल पटेल

महेंद्र सिंह सिसौदिया

शिवराज CM बनेंगे या नहीं?

बता दें कि मध्यप्रदेश में बीजेपी ने अपना पहले से सीएम फेस का ऐलान नहीं किया है. ऐसे में अभी यह भी साफ नहीं है कि बीजेपी फिर से उन्हें सीएम बनाएगी या नहीं. ऐसे में भलें प्रदेश में बीजेपी ने सरकार बना ली हो. लेकिन 12 मंत्रियों की हार के बाद पार्टी फिर से उन भरोसा जायगी या नहीं यह देखना दिलचस्प होगा.

चुनाव में जबरदस्त जीत के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता का धन्यवाद किया. उन्होंने इस जीत का श्रेय पीएम मोदी के नेतृत्व को दिया. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “इस बार की विजय बहुत बड़ी है. कुछ लोगों ने कहा कि सत्ता विरोधी लहर है और कुछ ने कहा ‘कांटे की टक्कर है लेकिन ना कांटा मिला ना टक्कर.”

Bharat Express Live

Also Read