Bharat Express

Sonbhadra: लालच देकर गरीब आदिवासियों का मजहब बदलवा रहे थे आंध्र प्रदेश-तमिलनाडु के लोग, 42 पर केस दर्ज; 9 गिरफ्तार

UP News: गिरफ्तार लोगों के पास से पुलिस को धार्मिक किताबें, प्रचार सामग्री और लैपटॉप बरामद हुआ है. गिरफ्तार लोगों से पुलिस पूछताछ कर रही है.

सांकेतिक फोटो (सोशल मीडिया)

Sonbhadra: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में पुलिस द्वारा की जा रही तमाम कार्रवाईयों के बावजूद अवैध ढंग से धर्मपरिवर्तन का खेल जारी है. ताजा मामला यूपी के सोनभद्र (Sonbhadra) जिले से सामने आया है. खबरों के मुताबिक, यहां पर गैर कानूनी तरीके से गरीब और आदिवासी लोगों का धर्म परिवर्तन कराने का मामला सामने आने के बाद 42 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. फिलहाल पुलिस ने 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ जारी है. इसी के साथ अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भी तलाश जारी है.

मीडिया सूत्रों के मुताबिक, यूपी के सोनभद्र में गरीब आदिवासियों को लालच देकर आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु व यूपी के कुछ लोग धर्म परिवर्तन करा रहे थे. इसकी जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने जांच-पड़ताल की. इसके बाद 9 लोगों को गिरफ्तार किया. उनके पास से पुलिस को धार्मिक किताबें, प्रचार सामग्री और लैपटॉप बरामद हुआ है. तो वहीं पुलिस ने इस मामले में कुल 42 लोगों पर मामला दर्ज किया है. इस मामले अपर पुलिस अधीक्षक कालू सिंह ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि, जिले के चोपन थाना क्षेत्र के मलहिया टोला निवासी नरसिंह ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ लोग आदिवासी लोगों और गरीबों को गैर कानूनी तरीके से ईसाई धर्म अपनाने का लालच दे रहे हैं और उनको पैसा बांट रहे हैं. इसी के साथ उन्होंने ये भी बताया कि, ये काम वो लोग काफी दिनों से कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Ayodhya Ram Mandir: पाकिस्तान से आए वस्त्र पहनेंगे प्रभु रामलला, 221 पुजारियों ने की आरती

इस पर पुलिस ने मामले की पड़ताल की और फिर शिकायत के आधार पर उत्तर प्रदेश गैरकानूनी धर्म परिवर्तन निषेध अधिनियम के तहत 42 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली और शिकायत कर्ता द्वारा बताए गए जगह पर जाकर छापामारी कर नौ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस अधिक्षक ने बताया कि, गिरफ्तार आरोपियों में तमिलनाडु के चेन्नई का रहने वाला जयप्रभु है तो वहीं उत्तर प्रदेश के रॉबर्ट्सगंज का अजय कुमार और आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा का चेक्का इमैनुएल भी शामिल है. तो वहीं अन्य आरोपियों की पहचान राजेंद्र कोल, छोटू उर्फ रंजन, परमानंद, सोहन, प्रेम नाथ प्रजापति और राम प्रताप के रूप में की गई है. पुलिस इन लोगों का इतिहास खंगाल रही है और आगे की कार्रवाई में जुट गई है. इसी के साथ ही गिरफ्तार आरोपियों से इनके पूरे गिरोह की जानकारी हासिल करने में जुटी है.

-भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read