Bharat Express

Rajasthan Elections: वसुंधरा राजे के करीबी नेता ने दिखाए बगावती तेवर, टिकट न मिलने पर पार्टी छोड़ने की दी धमकी

Vasundhra Raje: भवानी सिंह राजावत ने चेतावानी देता हुए कहा कि अगर इस बार भी उनका टिकट काटा जाता है कि वो वह निर्देलीय चुनाव लड़ेंगे.

वसुंधरा राजे और भवानी सिंह राजावत

Rajasthan Elections 2023: राजस्थान चुनाव की तैयारियों के बीच बीजेपी ने अपनी पहली उम्मीदवारों की सूचि जारी कर दी है. इसके बाद से ही ऐसा कहा जा रहा है कि पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधराजे के करीबियों से किनारा लिया है. ऐसे में उनके समर्थक काफी नाराज चल रहे हैं. विशेषज्ञों को मानना है कि समर्थकों की नाराजगी बीजेपी पर भारी पड़ सकती है. इस बीच वसुंधराजे के करीबी नेता और पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत (Bhavani Singh Rajawat) ने अपने बगावती तेवर दिखाए हैं. उन्होंने हाई कमान को एक चिट्ठी लिखी है. राजावत ने साफ कर दिया कि अगर उन्हें टिकट नहीं मिला तो वह निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने साफ बीजेपी को चेतावनी दे दी है.

राजे के करीबी नेता ने साफ कहा कि वे तीन बार से लाडपुरा विधानसभा सीट से विधायक रहे हैं, स्थानीय स्तर पर पार्टी को मजबूत किया है, लेकिन फिर भी साल 2018 के विधानसभा चुनाव में उन्हें पार्टी ने टिकट नहीं दिया था. उनका टिकट काट दिया था.

अगर टिकट नहीं मिला तो निर्देलीय लड़ूंगा

भवानी सिंह राजावत ने चेतावानी देता हुए कहा कि अगर इस बार भी उनका टिकट काटा जाता है कि वो वह निर्देलीय चुनाव लड़ेंगे. इसके अलावा उन्होंने ऑफर मिलने पर दूसरी पार्टी के चुनाव सिंबल से चुनाव लड़ने की धमकी दी है. पूर्व विधायक ने बताया कि उन्होंने पिछली बार भी पर्चा भरा था, लेकिन वसुंधरा राजे के कहने पर रुक गए थे. उस समय पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने उनसे कहा कि पार्टी से पूर्व राजपरिवार जुड़ रहा है और वह टिकट वापस लें. इसके बाद मैंने उनकी बात मानते हुए पांच साल जनता के बीच रहा.

यह भी पढ़ें-  टिकट बंटवारे में वसुंधरा राजे की नहीं चली! क्या समर्थकों की बगावत BJP को पड़ेगी भारी?

इसके अलावा राजावत ने मौजूदा बीजेपी विधायक कल्पना देवी पर आरोप है कि उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं की दुर्दशा कर डाली है और यह उनसे देखा नहीं जाता है. ऐसे में पार्टी कार्यकर्ताओं की जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए वह इस तरह का निर्णय ले रहे हैं.

मुझे पार्टी टिकट नहीं देगी

राजावत ने कहा कि मुझे आशंका है कि इस बार भी मुझे पार्टी टिकट नहीं देगी, इसलिए मैंने कोटा जिले की लाडपुरा विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने और अन्य दलों से ऑफर मिलने पर उनके सिंबल पर चुनाव लड़ने का मन बनाया है. अगर चुनाव मिलता है तो ठीक वरना मैं निर्देलीय मैदान में जरुर उतरूंगा.

– भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read