Bharat Express

Aligarh Muslim University: ‘तालों की नगरी’ में आज ही के दिन खुली थी पहली यूनिवर्सिटी, सर सैयद ने शिक्षा को बनाया था आजादी का हथियार

देश के प्रमुख शिक्षण संस्थानों में गिने जाने वाले अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्थापना 24 मई 1920 को की गयी थी. इस विश्वविद्यालय को शुरू करने वाले सर सैयद खान के परिवार के लोग भी अंग्रेजों की गोलियों का शिकार हुए थे.

Aligarh Muslim University photo

24 मई: आज के दिन हुई थी अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की स्थापना

क्‍या आप अलीगढ़ के पहले विश्वविद्यालय के बारे में जानते हैं? अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय आज ही के दिन खुला था. इसकी स्‍थापना का श्रेय सर सैयद अहमद खान को जाता है. उस समय भारत पर ब्रिटिश हुकूमत थी. तब सर सैयद ने बतौर समाज सुधारक, मुसलमानों को आधुनिक शिक्षा प्रदान करने की जरूरत महसूस करते हुए 1877 में मुस्लिम एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज शुरू किया था.

मुस्लिम एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज ही कुछ सालों बाद 1920 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय बन गया, जो स्‍वतंत्र भारत के चार केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में से एक था. इस विश्वविद्यालय के इतिहास पर नजर डालें तो पता चलता है कि 1857 की क्रांति ने सर सैयद अहमद खान पर गहरा असर डाला था और उनके परिवार के लोग भी अंग्रेजों की गोलियों का शिकार हुए थे.

 

सर सैयद ने आधुनिक शिक्षा को हथियार बनाकर अंग्रेजों को सबक सिखाने की ठान ली. वह ईस्ट इंडिया कंपनी में शामिल हुए और आधुनिक शिक्षा के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल करने के इरादे से 1870 में इंग्लैंड गए. वहां उन्होंने ऑक्सफोर्ड और कैंब्रिज जैसे विश्वप्रसिद्ध संस्थानों का दौरा किया और भारत में भी आधुनिक शिक्षा का उजाला फैलाने का सपना देखा. उन्होंने वापस आकर अलीगढ़ में मात्र सात छात्रों के साथ एक मदरसे की शुरूआत की.

Aligarh Muslim University photo

अलीगढ़ के उस मदरसे में धीरे-धीरे छात्रों की संख्या बढ़ने लगी और 1877 में इसका विस्तार करते हुए एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज की शुरुआत की गई. यही कॉलेज 1920 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय बना जो दुनियाभर में एक प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान के तौर पर प्रसिद्ध है.

— भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read