Bharat Express

IT Raid: नासिक में लगातार 30 घंटे चली छापेमारी, 26 करोड़ नकदी और 90 करोड़ की बेहिसाब संपत्ति के दस्तावेज जब्त

नासिक में आयकर विभाग की छापेमारी हुई है. आयकर विभाग किसी भी विसंगति या छिपे हुए लेन-देन को उजागर करने के लिए सुराना ज्वैलर्स और महालक्ष्मी बिल्डर्स दोनों के रिकॉर्ड की जांच कर रहा है.

Income Tax Department

फोटो— आयकर विभाग का कार्यालय

Income Tax Department Raid in Nashik: महाराष्ट्र के नासिक में आयकर विभाग ने सर्राफा व्यापारियों की दुकानों और डेवलपर्स के कार्यालयों पर छापेमारी की. लगातार 30 घंटे चली छापेमारी में टीम ने 26 करोड़ रुपये की नकदी और 90 करोड़ की बेहिसाब संपत्ति के दस्तावेज जब्त किए.

मिली जानकारी के मुताबिक नासिक, नागपुर, जलगांव की टीम ने यह कार्रवाई की. 50 से 55 अधिकारियों ने सुराना ज्वैलर्स के परिसर के साथ-साथ उनके रियल एस्टेट व्यवसाय के कार्यालय पर भी छापा मारा. उनके आलीशान बंगले पर भी एक स्वतंत्र टीम ने निरीक्षण किया.

Income tax

शहर के विभिन्न स्थानों पर उनके कार्यालय, निजी लॉकर और बैंकों के लॉकर की भी जांच की गई. मनमाड और नंदगांव में उनके परिवार के सदस्यों के घरों की भी तलाशी ली गई. नासिक के इस सर्राफा कारोबारी के पास से करोड़ों की नकदी और बेहिसाब संपत्ति मिलने से कारोबारियों में हड़कंप मच गया है.

सुराना ज्वैलर्स के अघोषित लेनदेन की जांच

रिपोर्ट के अनुसार, आयकर विभाग की कार्रवाई में जो नगदी मिली है उसे गिनने में 14 घंटे लगे. बताया जा रहा है कि यह छापेमारी अघोषित आय और संभावित रूप से संदिग्ध वित्तीय गतिविधियों की व्यापक जांच का हिस्सा है. आयकर विभाग किसी भी विसंगति या छिपे हुए लेन-देन को उजागर करने के लिए सुराना ज्वैलर्स और महालक्ष्मी बिल्डर्स दोनों के रिकॉर्ड की जांच कर रहा है.

— भारत एक्सप्रेस

Bharat Express Live

Also Read

Latest