‘हम बाबरी मस्जिद को नहीं भूलेंगे…’, ओवैसी ने उठाए कोर्ट के फैसले पर सवाल, जानें राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा पर क्या कहा?

Asaduddin Owaisi: अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाली रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा से पहले राम मंदिर को लेकर पूछे गए सवालों पर एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी गर्मा गए. मस्जिद का जिक्र करते हुए उन्होंने प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट का हवाला दिया.

Owaisi

असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

Asaduddin Owaisi On Ayodhya Mandir: अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाली रामलला की प्रतिमा की प्राण-प्रतिष्ठा पर देश-दुनिया के रामभक्तों की निगाहें जमी हुई हैं. इसके लिए रामनगरी में जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं. अयोध्या को भव्य रूप दिया जा रहा है. मंदिर निर्माण कार्य भी पूरा होने वाला है. हालांकि, सत्तारूढ़ भाजपा और उसकी सहयोगी पार्टियों को छोड़कर कुछ विपक्षी दलों के नेता भव्य आयोजन पर सवाल उठा रहे हैं. एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी खासा चिंतित नजर आ रहे हैं.

आज ओवैसी ने अयोध्या और राम मंदिर को लेकर पूछे गए सवालों पर बाबरी मस्जिद का जिक्र छेड़ दिया और बोले कि हम बाबरी मस्जिद को नहीं भूलेंगे. राम मंदिर के उद्घाटन से पहले ओवैसी ने सख्त लहजे में कहा कि 6 दिसंबर की बाबरी मस्जिद विध्वंस की घटना हमेशा लोगों के जेहन में रहेगी.

atiq ahmed murder

ओवैसी ने राम मंदिर निर्माण को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि अगर मस्जिद को आप शहीद नहीं करते तो सुप्रीम कोर्ट का फैसला क्या आता? 6 दिसंबर तो एक फैक्ट है. एआईएमआईएम चीफ ने कहा— “क्या हम चाहेंगे कि दोबारा 6 दिसंबर हो? दूध का जला छाछ को भी फूंक-फूंककर पीता है.”

यह भी पढ़िए: कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे का PM मोदी पर हमला— “फोटोग्राफी करते हैं, लक्षद्वीप में जाकर फोटो खिंचवातें हैं, लेकिन ये महापुरुष मणिपुर क्यों नहीं जाते?”

Bharat Express Live

Also Read